shahnawaz hussain become conscious after bihar liquor ban by nitish kumar - Jansatta
ताज़ा खबर
 

नीतीश की शराबबंदी का भाजपा नेताओं पर जबरदस्त असर, फूंक-फूंक कर पैर रखते शाहनवाज हुसैन

बिहार में शराबंदी के बाद शाहनवाज हुसैन ने सख्त हिदायत दी कि खाली बोतल भी घर के आस-पास नहीं होनी चाहिए।

बिहार में शराबंदी के बाद बीजेपी के नेता फूंक-फूंककर कदम रख रहे हैं।

बिहार में शराबंदी के बाद बीजेपी के नेता फूंक-फूंककर कदम रख रहे हैं। उदाहरण के लिए केंद्रीय मंत्री शाहनवाज हुसैन को देखा जा सकता है। हाल ही में शाहनवाज हुसैन जब बिहार पहुंचे तो उन्होंने अपने लोगों को पूरे घर की अच्छे से छानबीन करके शराब की बोतलें ‘ढूंढने’ को कहा। वह यह सुनिश्चित करना चाहते थे कि कहीं घर में जाने-अनजाने किसी ने शराब ना रख रखी हो। इतना ही नहीं उन्होंने घर के पिछवाड़े से भी खाली बोतलों को जल्द से जल्द बाहर फेंकने को कहा। उन्होंने सख्त हिदायत दी कि खाली बोतल भी घर के आस-पास नहीं होनी चाहिए। गाड़ी के ड्राइवर को भी गाड़ी के दरवाजे हर वक्त लॉक करके रखने को कहा गया है ताकि कोई साजिश के तहत बोतल ना रख सके।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार में शराब बिक्री पर बैन लगाया हुआ है। 5 अप्रैल को बिहार की सरकार ने भारत में बनने वाली विदेश शराब समेत अल्‍कोहल की बिक्री और सेवन पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया था। इस फैसले के मुताबिक, पूरे बिहार में कहीं भी शराब पीना गैरकानूनी है। लेकिन इस फैसले के बाद कई अजीब घटना सुनने को भी मिली थीं। जैसे बिहार में कुछ लोग शराब पीने के लिए इतने बेचैन हो गए कि बॉर्डर पार कर नेपाल पहुंच गए थे।

इसके साथ ही बिहार के गोपालगंज जिले में पिछले कुछ दिनों में करीब 13 लोगों की रहस्यमय तरीके से मौत हो गई। बताया जा रहा है कि इन लोगों ने नकली शराब का सेवन किया था। मरने वालों में से अधिकतर सब्जी बेचने और मजदूर तबके के लोग थे। मृतकों के परिजनों ने दावा किया कि मौत का कारण जहरीली शराब पीना है। अगर परिजनों का दावा सही है तो शराब बंदी के बाद अवैध शराब से जुड़ा ये सबसे बड़ा कांड है।

Read Also: चौपाल : क्या सचमुच बिहार शराबमुक्त राज्य बन गया है?

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App