ताज़ा खबर
 

नीतीश के खिलाफ यात्रा पर निकले तेजस्वी, लालू ने समझाया- निजी हमले मत करना

लालू यादव को डर है कि बिहार में 'लोकप्रिय' नीतीश पर आरजेडी का व्यक्तिगत हमला लोगों के बीच नीतीश के लिए सहानुभूति पैदा कर सकती है।
बिहार की पूर्व सीएम राबड़ी देवी ने तिलक लगाकर तेजस्वी यादव को जनादेश अपमान यात्रा के लिए रवाना किया (Photo-PTI)

बिहार के नेता प्रतिपक्ष और पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव आज (9 अगस्त) से नीतीश कुमार के खिलाफ जनादेश अपमान यात्रा की शुरूआत कर रहे हैं। नीतीश द्वारा राष्ट्रीय जनता दल से रिश्ते तोड़कर बीजेपी के साथ सरकार बनाने से खफा आरजेडी नीतीश कुमार पर बिहार की जनता को ‘धोखा’ देने का आरोप लगा रही है। आरजेडी का दावा है कि वो बिहार को लोगों को जेडीयू द्वारा सत्ता तोड़ने की असली वजह बताएगी। इसी सिलसिले में तेजस्वी यादव बुधवार 9 अगस्त से मोतिहारी से अपने राजनीतिक आंदोलन को आगे बढ़ा रहे हैं। विपक्ष के नेता के तौर पर पहली बार लोगों के सामने जा रहे तेजस्वी यादव को उनके पिता लालू यादव ने कुछ टिप्स दिये हैं। सूत्रों के मुताबिक लालू यादव ने तेजस्वी को नीतीश कुमार पर व्यक्तिगत हमले ना करने की सलाह दी है। लालू ने तेजस्वी को सिर्फ नीतीश द्वारा बिहार के लोगों के जनमत के साथ ‘धोखा’ करने को ही मुद्दा बनाने को कहा है। बता दें कि 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में आरजेडी, जेडीयू और कांग्रेस के महागठबंधन को 243 में से 178 सीटें मिली थी। दरअसल लालू यादव को डर है कि बिहार में ‘लोकप्रिय’ नीतीश पर आरजेडी का व्यक्तिगत हमला लोगों के बीच नीतीश के लिए सहानुभूति पैदा कर सकती है।

आठ अगस्त को मोतिहारी रवाना होने से पहले राबड़ी देवी ने बेटे तेजस्वी यादव का तिलक किया और उन्हें राजनीति के रणक्षेत्र के लिए रवाना किया। तेजस्वी यादव के साथ इस राजनीतिक यात्रा में उनके बड़े भाई और बिहार सरकार के पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव और धर्मनिरपेक्ष स्वयंसेवक संघ के लोग शामिल हैं। धर्मनिरपेक्ष स्वयंसेवक संघ की स्थापना तेज प्रताप यादव ने की है, वो इस संगठन को गैर राजनीतिक संगठन कहते हैं। इससे पहले मंगलवार को तेजस्वी यादव ने मीडिया को अपने यात्रा की जानकारी देते हुए बताया कि, ‘हमलोगों को बताएंगे कि संघ मुक्त भारत की बात करने वाले नीतीश कुमार किस तरह बीजेपी की गोद में जाकर बैठ गये।’ आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव बिहार की जनता से सीधा संवाद बनाएंगे और इस राजनीतिक कार्यक्रम का मकसद 27 अगस्त को प्रस्तावित आरजेडी की रैली के लिए माहौल बनाना है। बिहार में जेडीयू को इस वक्त आरजेडी के अलावा अपनों से भी चुनौती मिल रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता शरद यादव ने भी राज्य भर में लोगों के साथ सीधा संवाद स्थापित करने जा रहे हैं। शरद यादव 10 अगस्त को वैशाली और मुजफ्फरपुर में 10 रैलियां कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.