ताज़ा खबर
 

न्याय दिलाने के बजाय लालू, नीतीश दलितों को लेकर घडियाली आंसू बहा रहे हैं – रामविलास

रामविलास ने हाल में बिहार के मुजफ्फरपुर, दरभंगा और किशनगंज में दलितों पर हुए अत्याचार की घटना की चर्चा की।

Author पटना | July 24, 2016 9:40 PM
रामविलास पासवान केंद्रीय मंत्री और हाजीपुर से सांसद हैं। (फाइल फोटो)

लोजपा प्रमुख और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने रविवार को आरोप लगाया कि बिहार की महागठबंधन सरकार में शामिल राजद प्रमुख लालू प्रसाद और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार प्रदेश में हुए नरसंहार में दलितों को न्याय दिलाने के बजाए गुजरात की घटना पर उनको लेकर घडियाली आंसू बहाकर अपनी राजनीतिक रोटी सेकने के प्रयास कर रहे हैं।

पटना स्थित लोजपा के प्रदेश कार्यालय में पार्टी के संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष चिराग पासवान, सांसद रामचं्रद पासवान और लोजपा के प्रदेश अध्यक्ष पशुपति कुमार पारस के साथ आज संवाददाताओं को संबोधित करते हुए रामविलास ने हाल में बिहार के मुजफ्फरपुर, दरभंगा और किशनगंज में दलितों पर हुए अत्याचार की घटना की चर्चा करते हुए आरोप लगाया कि लालू और नीतीश प्रदेश में पूर्व में हुए नरसंहार में दलितों को न्याय दिलाने के बजाए गुजरात की घटना पर उनको लेकर घडियाली आंसू बहाकर अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने के प्रयास कर रहे हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि लालू प्रसाद के राज में बिहार में बाथे, मियांपुर और बथानी नरसंहार में 113 दलितों की जान गयी और निचली आदलत के आरोपियों को आजीवन कारावास दिए जाने के बावजूद नीतीश के कार्यकाल में पुलिस द्वारा साक्ष्य नहीं पेश किए जाने पर पटना उच्च न्यायालय ने इन मामलों में आरोपियों को बरी कर दिया।

रामविलास ने कहा कि गुजरात में घटी घटना :पांच दलितों की पिटाई: पर घडियाली आंसू और हाय तौबा मचाने वाले लालू और नीतीश को पहले यह जवाब देना चाहिए कि इतनी संख्या में दलितों का नरसंहार करने वाले आरोपियों को कैसे सजा नहीं हो पायी।

उन्होंने लालू प्रसाद और नीतीश कुमार पर ओछी राजनीति करने का प्रयास करने का आरोप लगाते हुए कहा कि वे नीतीश कुमार से आग्रह करेंगे कि पहले वे बिहार में दलितों को न्याय दिलाएं और यहां की कानून व्यवस्था को दुरूस्त करें ताकि दलितों पर हो रहे अत्याचार रुक सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App