ताज़ा खबर
 

ऐश्‍वर्या के साथ रहने को तैयार नहीं तेज प्रताप, राबड़ी भी हुईं बीमार, नहीं करेंगी छठ

तेज प्रताप की बड़ी बहन मीसा भारती और मां राबड़ी देवी ने तेज प्रताप को मनाने की बहुत कोशिश की, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। तेज प्रताप अपने फैसले पर टिके रहे।

इस साल राबड़ी देवी छठ महापर्व नहीं मनाएंगी। (फाइल फोटो)

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद की पत्नी राबड़ी देवी छठ उत्सव के दौरान कई सालों से सूर्य देवता की भक्त रही हैं। लेकिन, राबड़ी देवी इस साल छठ पूजा महापर्व नहीं मनाएंगी। यह फैसला तेज प्रताप यादव द्वारा पटना अदालत में तलाक याचिका दायर करने के कुछ दिन बाद किया। छह महीने पहले हुई शादी को खत्म करने का उनका फैसला राबड़ी देवी को छठ मनाने से ब्रेक लेने का कारण माना जा रहा है। हालांकि, लालू-राबड़ी परिवार के करीबी लोगों ने कहा कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं है, इसलिए छठ नहीं मनाने का फैसला किया है। राजद विधायक भोला यादव ने कहा कि राबड़ी देवी अपने बड़े बेटे के तलाक के फैसले के बाद से अस्वस्थ्य हैं। लालू प्रसाद की अनुपस्थिति में उन्होंने यह त्यौहार नहीं मनाने का फैसला किया है। लालू प्रसाद यादव का भी रांची में अस्पताल में इलाज चल रहा है। उन्होंने भी बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री को इस साल ऐसा नहीं करने के लिए प्रेरित किया है। लालू परिवार के करीबी विश्वासी भोला यादव ने कहा, “राबड़ी देवी का स्वास्थ्य ठीक नहीं है, जिसके कारण वह इस साल छठ महापर्व नहीं मनाएगी”।

तेज प्रताप राबड़ी देवी और लालू प्रसाद के बड़े बेटे हैं। उन्होंने इस साल मई में राजद के विधायक चंद्रिका राय और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री दरोग प्रसाद राय की पोती ऐश्वर्या राय से विवाह किया था। लालू प्रताप यादव का परिवार तेज प्रताप द्वारा 2 नवंबर को पटना अदालत में तलाक की अर्जी डालने के बाद से सदमे की स्थिति में है।

तेज प्रताप की बड़ी बहन मीसा भारती और मां राबड़ी देवी ने तेज प्रताप को मनाने की बहुत कोशिश की, लेकिन इसका कोई फायदा नहीं हुआ। तेज प्रताप अपने फैसले पर टिके रहे। तेज प्रताप ने तलाक याचिका के बारे में सार्वजनिक घोषणा के बाद रांची में अपने पिता लालू प्रसाद यादव से भी मुलाकात की। लालू प्रसाद ने उन्हें मनाने की कोशिश की लेकिन महुआ विधायक अपने फैसले पर अडिग रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App