ताज़ा खबर
 

बिहार सरकार पर 665 करोड़ का बकाया, कोर्ट ने कहा- जब्त कर लीजिए सीएम दफ्तर की इमारत

जिस इमारत को लेकर कोर्ट ने यह आदेश दिया है, उसमें राज्य के कैबिनेट मंत्रियों के अलावा गृह सचिव और राज्य के कई विभागों के प्रिंसिपल सेक्रेटरी के दफ्तर हैं।

Author नई दिल्ली | July 20, 2019 2:02 PM
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (File – PTI Photo)

पटना की एक अदालत ने 665 करोड़ रुपये के बकाए के मामले में पुरानी सचिवालय बिल्डिंग को जब्त करके नीलाम करने का आदेश दिया है। खास बात यह है इस बिल्डिंग परिसर में सीएम नीतीश कुमार समेत कई आला अधिकारियों और मंत्रियों के दफ्तर हैं। बिहार राज्य भूमि विकास बैंक समिति के बिहार सरकार पर बकाए के मामले में कोर्ट ने यह आदेश दिया है। बकाए के भुगतान को लेकर बैंक ने अदालत का रास्ता अख्तियार किया है।

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, जिस इमारत को लेकर कोर्ट ने यह आदेश दिया है, उसमें राज्य के कैबिनेट मंत्रियों के अलावा गृह सचिव और राज्य के कई विभागों के प्रिंसिपल सेक्रेटरी के दफ्तर हैं। बता दें कि बकाए की मूल रकम 493.7 करोड़ रुपये है, जबकि 171.15 करोड़ रुपये का ब्याज है। यह आकलन पिछले साल 31 अगस्त तक का है।

बकाया रकम राज्य सरकार द्वारा आम नागरिकों और खास तौर पर किसानों को दी गई सब्सिडी और कर्ज माफी की वजह से है। सरकार ने इस रकम का भुगतान बैंक को नहीं किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कोर्ट की ओर से आदेश जारी होने के बाद एक टीम मुख्य सचिव का कार्यालय कुर्क करने पहुंची थी। हालांकि, अपर मुख्य सचिव ने एक हफ्ते का समय मांगा, जिसके बाद कुर्की की कार्रवाई टाल दी गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Bihar, Assam Floods Updates: बिहार-असम में हालात खराब, बाढ़ की वजह से एक करोड़ लोगों पर आफत
2 बिहार: एसपी का लेटर आया सामने, पुलिस अफसरों से मांगी गई RSS समेत 19 हिंदुवादी संगठनों की जानकारी