ताज़ा खबर
 

अटकलबाजी थी मंत्रिमंडल में शामिल होना: नीतीश

इस अकारण चर्चा में लाने के कारण आप लोगों के डार्लिंग नेता (राजद प्रमुख लालू प्रसाद) को मौका मिला किंतु उन्हें बिहार की जनता गंभीरतापूर्वक नहीं लेती है।

Author पटना | September 5, 2017 3:01 AM
बिहार के सीएम नीतीश कुमार (Source-PTI File Photo)

बिहार के मुख्यमंत्री और जद (एकी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में जद (एकी) के शामिल नहीं होने के बारे में सोमवार को कहा कि उनकी पार्टी का केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होना मीडिया की अटकलबाजी थी जबकि ऐसी कोई बात ही नहीं थी। मुख्यमंत्री आवास में लोक संवाद कार्यक्रम के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि यह तो मीडिया के द्वारा चर्चा में लाया गया था। जद (एकी) हाल ही में राजग में शामिल हुई है। इस विषय पर न तो गौर किया गया था और न ही मन में इच्छा थी और न ही अपेक्षा रही। नीतीश ने कहा कि इसकी कोई बात ही नहीं थी। यह मीडिया का अपनी अटकलबाजी थी, जिसमें कोई दम नहीं था। जद को अकारण चर्चा में लाया गया। उन्होंने कहा, अकारण मंत्रिमंडल के विस्तार में जद (एकी) को चर्चा में लाया गया। इस अकारण चर्चा में लाने के कारण आप लोगों के डार्लिंग नेता (राजद प्रमुख लालू प्रसाद) को मौका मिला किंतु उन्हें बिहार की जनता गंभीरतापूर्वक नहीं लेती है।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64 GB Blue
    ₹ 15390 MRP ₹ 17990 -14%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 16999 MRP ₹ 17999 -6%
    ₹2000 Cashback

नीतीश ने कहा, मेरी पार्टी के बारे में अगर कोई बात हो तो सीधे पूछ लीजिए। हम छिपाते नहीं हैं, मेरे काम करने का तरीका पारदर्शी है। उन्होंने कहा कि इस बार जद (एकी) को लेकर मीडिया का अनुमान विफल हो गया। नीतीश ने कहा, मेरी प्रतिबद्धता बिहार के लोगों के प्रति है। उन्होंने महागठबंधन से नाता तोड़कर भाजपा के साथ सरकार बनाने को लेकर हो रहे प्रहार की ओर इशारा करते हुए कहा कि हम पर तरह-तरह का अपमानजनक और कटु शब्दों का प्रयोग किया जा रहा है, किंतु इसके बावजूद हम बिहार के हित में काम कर रहे हैं क्योंकि हमारी प्रतिबद्धता ‘न्याय के साथ विकास’ है। जद (एकी) के विक्षुब्ध नेता शरद यादव के खिलाफ पार्टी द्वारा की जाने वाली कार्रवाई के बारे में पूछे जाने पर कहा कि इस बारे में वे उचित समय पर बताएंगे पर तब तक किसी प्रकार की अटकलें न लगाएं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App