X

ग‍िरफ्तार मनीषा दयाल के साथ फोटो पर जदयू नेता ने दी ये सफाई

मनीषा दयाल पटना के हाई प्रोफाइल सोशल सर्कल की जानी-मानी शख्सियत हैं। उनके रसूख की गवाही उनका फेसबुक अकाउंट देता है, जहां पर जेडीयू से लेकर आरजेडी के बड़े नेताओं के साथ उनकी तस्वीरें हैं। हालांकि कुछ ही घंटे पहले उनके फेसबुक अकाउंट को डीएक्टिवेट कर दिया गया है।

पहले ‘बालिका गृह’ और अब ‘आसरा गृह’। बिहार के शेल्टर होम में पसरे कुव्यवस्था और ‘गंदगी’ ने सुशासन बाबू को बैकफुट पर डाल दिया है। नीतीश कुमार मुजफ्फरपुर के बालिका गृह कांड की जांच को सीबीआई को सौंप कर थोड़ा ही इत्मीनान हुए ही थे कि पटना स्थित आसरा गृह में दो महिलाओं की मौत ने सूबे की सियासत में उबाल ला दिया है। आसरा गृह में हुए मौत में जो नाम सामने उभर कर आ रहा है, उसके बड़े सियासी संबंध हैं। पुलिस ने इस मामले में आसरा गृह की कोषाध्यक्ष मनीषा दयाल को आनन-फानन में गिरफ्तार कर लिया है। मनीषा दयाल पटना के हाई प्रोफाइल सोशल सर्कल की जानी-मानी शख्सियत हैं। उनके रसूख की गवाही उनका फेसबुक अकाउंट देता है, जहां पर जेडीयू से लेकर आरजेडी के बड़े नेताओं के साथ उनकी तस्वीरें हैं। हालांकि कुछ ही घंटे पहले उनके फेसबुक अकाउंट को डीएक्टिवेट कर दिया गया है।

जेडीयू नेता श्याम रजक और मनीषा दयाल (तस्वीर-सोशल मीडिया)

बिहार सरकार में पूर्व मंत्री रहे श्याम रजक के साथ मनीषा दयाल की तस्वीरें मीडिया में काफी वायरल हो रही हैं। इसके अलावा आरजेडी नेता और पूर्व मंत्री शिवचंद्र राम और आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी के साथ भी मनीषा दयाल की तस्वीरें सामने आईं हैं। हालांकि इन तस्वीरों पर सफाई देते हुए आरजेडी नेता श्याम रजक ने कहा है कि वे कई कार्यक्रमों में शिरकत करते हैं और कौन, कब किसके साथ फोटो ले रहा है ये उन्हें पता नहीं होता है। श्याम रजक ने कहा है कि वे मनीषा दयाल को निजी रुप से नहीं जानते हैं। आरजेडी ने भी इन तस्वीरों पर इसी तरह की प्रतिक्रिया दी है। अबतक हुए खुलासे के मुताबिक मनीषा दयाल आरजेडी नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी की पत्नी नूतन सिन्हा की मौसेरी बहन हैं।

मनीषा दयाल ग्लैमर पसंद महिला हैं। इवेंट और आयोजनों के जरिये उन्होंने खुद को मीडिया का पंसदीदा बना लिया था। वह ना सिर्फ आसरा गृह की कोषाध्यक्ष हैं, बल्कि कई एनजीओ भी चलाती हैं। फिलहाल वह आसरा होम्स को चलाती हैं और अनुमाया ह्युमन रिसोर्सेज फाउंडेशन की निदेशक हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक वह एनजीओ आत्मा फाउंडेशन में भी बोर्ड की सदस्य हैं। इसके अलावा उनके मनीषा दयाल का नाम कई दूसरे गैर सरकारी संगठनों से भी जुड़ा है।

मनीषा दयाल (तस्वीर-सोशल मीडिया)

मनीषा दयाल ने बिहार में सीसीएल-2, सॉकर कॉम्पीटिशन जैसे अनेक इवेंट आयोजित किये। यही नहीं उन्होंने अनुमाया और पिंकीश फाउंडेशन के बैनर तले सावन महोत्सव, तीज महोत्सव या फिर महिलाओं के नाम पर क्रिकेट मैच का आयोजन करवाया। इस कार्यक्रमों में राजनेता, आईएएस अफसरों की पत्नियां से लेकर बड़े बिजनेसमैन शिरकत करते। इनके जरिये मनीषा दयाल का संपर्क सूत्र लगातार बढ़ता गया। रिपोर्ट के मुताबिक मनीषा 2012 में रेडक्रास, यूनिसेफ जैसी संस्थाओं से जुड़ीं। 2016 में वह महिलाओं, बुजुर्गों और बच्चों के कल्याण के लिए काम करने वाली संस्था अनुमाया ह्यूमन रिसोर्स फाउंडेशन से जुड़ गईं। 2016 में ही उन्होंने कॉरपोरेट क्रिकेट लीग का आयोजन किया, जो काफी कामयाब रहा, इसा आयोजन ने काफी सुर्खियां बटोरी।

बता दें कि पटना स्थित आसरा होम्स में रह रही दो महिलाओं (उम्र 17 और 40 साल) की तबीयत 10 अगस्त की शाम को अचानक खराब हो गई थी, इसके बाद इन्हें इलाज के लिए पीएमसीएच भेजा गया था। लेकिन अस्पताल प्रशासन को कहना है कि महिलाओं को अस्पताल मृत अवस्था में लाया गया था। 10 अगस्त को ही इस आश्रय गृह से तीन लड़कियां फरार हो गयी थीं,जबकि फरार होने की कोशिश कर रही एक अन्य लडकी की शिकायत पर आश्रय गृह के पड़ोस में रह रहे बनारसी नाम के एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इस पर छेड़खानी का आरोप था।

  • Tags: Patna News,