scorecardresearch

लालू के करीबी, बिहार राजद अध्यक्ष के बेटे को भाया नीतीश कुमार का विजन, जॉइन करेंगे जदयू

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष के बेटे अजीत सिंह ने कहा कि उनके फैसले का असर उनके परिवार पर नहीं पड़ेगा क्योंकि उनके पिता ने सभी को स्वतंत्र फैसले लेने की छूट दी है।

Nitish Kumar, lalu yadav, Jagdanand Singh, bihar
लालू यादव, नीतीश कुमार और जगदानंद सिंह (Express File Photo)

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आरजेडी को बड़ा झटका दिया है। लालू यादव के करीबी और आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के बेटे अजीत सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विज़न से काफी प्रभावित हैं और जल्द ही जेडीयू का दामन थामेंगे। 12 अप्रैल को अजीत सिंह जेडीयू की सदस्यता ग्रहण करेंगे। अजीत सिंह आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह के छोटे बेटे हैं।

जेडीयू में जॉइनिंग के सवाल पर अजीत सिंह ने मीडिया से कहा कि, “नीतीश कुमार के काम को शुरू से देखते रहें हैं और उनके विज़न से काफी प्रभावित हूं। उनके साथ काफी कुछ सीखने को मिलेगा और नीतीश जी बड़े समाजवादी नेता हैं।” वहीं परिवार को लेकर अजीत सिंह ने कहा कि मेरे फैसले से परिवार में कोई टूट नहीं होगी क्योंकि मेरे परिवार में फैसले लेने की स्वतंत्रता है। किसी भी राजनीतिक विचारधारा का परिवार पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

बता दें की जगदानंद सिंह आरजेडी के सच्चे सिपाही हैं और लालू यादव के काफी करीबी हैं। 2009 में रामगढ़ सीट पर उपचुनाव हुआ तो जगदानंद सिंह के बेटे सुधाकर सिंह आरजेडी से बगावत कर बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ लिए लेकीन जगदानंद सिंह ने प्रचार करते हुए अपने बेटे को ही चुनाव हरवा दिया और आरजेडी प्रत्याशी जीत गए। रामगढ़ से जगदानंद सिंह 6 बार विधायक चुने जा चुके हैं। हालांकि 2020 में सुधाकर सिंह आरजेडी के टिकट पर रामगढ़ से विधायक चुने गए।

लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव और जगदानंद सिंह में बनती नहीं है। लेकिन फिर भी जगदानंद सिंह आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष बने हुए हैं। इसकी सिर्फ एक सबसे बड़ी वजह है कि वह आरजेडी और लालू यादव के सच्चे सिपाही माने जाते हैं। जगदानंद सिंह के फैसलों को लेकर आरजेडी विधायक तेज प्रताप यादव लगातार उनकी आलोचना करते रहते हैं लेकिन फिर भी जगदानंद सिंह अपने फैसलों को नहीं बदलते हैं और उस पर टिके रहते हैं।

पिछले साल अगस्त में आरजेडी छात्र इकाई के प्रदेश अध्यक्ष आकाश यादव को जगदानंद सिंह ने हटा दिया था जिसके बाद तेज प्रताप यादव उनपर भड़क गए थे। आकाश यादव को तेज प्रताप के करीबी लोगों में शुमार बताया जाता है और इसके बाद काफी बवाल हुआ था। इसके बाद तेजस्वी और तेज प्रताप के बीच खटास की खबरें भी आई थी। वहीं इस दौरान तेज प्रताप की नाराजगी पर सवाल पूछे जाने के बाद जगदानंद सिंह ने कहा था कि कौन हैं तेजप्रताप? मैं तेज प्रताप के प्रति जवाबदेह नहीं हूं, मैं लालू यादव के प्रति जवाबदेह हूं।

पढें पटना (Patna News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट