ताज़ा खबर
 

आरजेडी की धमकी के 24 घंटे के अंदर जेडीयू ने दिया मुंहतोड़ जवाब, कहा- सरकार से हटने में सिर्फ 5 मिनट लगेगा

जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने कहा, "महागठबंधन के नेता नीतीश कुमार हैं, उनके अलावा और कोई नहीं है। जो लोग धमका रहे हैं कि उनके पास 80 विधायक हैं, उन्हें किसी भी तरह के भ्रम में नहीं रहना चाहिए।

BSSC Paper Leak news, BSSC Paper Leak Latest news, Nitish Kumar BSSC, Nitish Kumar news, Nitish Kumar latest news, Nitish Kumar BJP, BSSC CBI Probeबिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फाइल फोटो)

बिहार में महागठबंधन की संभवानाओं को लेकर तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। हालांकि दोनों पार्टी के नेता गठबंधन में दरार की खबर से इनकार करते आ रहे हैं। लेकिन अब महागठबंधन के दो सबसे बड़े सहयोगी आरजेडी और जेडीयू में शब्दों की जंग शुरू हो गई है। आरजेडी के वरिष्ठ विधायक के बयान के 24 घंटे के अंदर जेडीयू की ओर से भी जवाब दिया गया। आरजेडी विधायक ने खुद को महागठबंधन का सबसे बड़ा घटक बताते हुए कहा था कि जो हम चाहेंगे उसे अन्य सहयोगियों को स्वीकार करना होगा। इस पर पलटवार करते हुए जेडीयू ने शुक्रवार को कहा कि सत्ता में रहने की तुलना में नीतीश कुमार की छवि उसके लिए ज्यादा जरुरी है। 71 विधानसभा सदस्यों वाली जेडीयू ने कहा कि अगर जरुरत पड़ी तो पार्टी को सरकार से बाहर निकलने में सिर्फ पांच मिनट लगेगा।

जेडीयू प्रवक्ता अजय आलोक ने इंडिया टुडे से बातचीत में कहा, “महागठबंधन के नेता नीतीश कुमार हैं, उनके अलावा और कोई नहीं है। जो लोग धमका रहे हैं कि उनके पास 80 विधायक हैं, उन्हें किसी भी तरह के भ्रम में नहीं रहना चाहिए। हमें सरकार और सत्ता से बाहर निकलने में 5 मिनट का भी समय नहीं लगेगा। उन्होंने आगे कहा कि नीतीश कुमार का ट्रैक रिकॉर्ड हमेशा साफ रहा है। हमे इस तरह के बयान देकर महागठबंधन को खतरे में नहीं डालना चाहिए बल्कि उन आरोपों के जवाब लेकर सामने आना चाहिए जो तेजस्वी यादव पर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा कि सत्ता हमारे बहुत कम महत्वपूर्ण है। नीतीश कुमार के खेमे ने साफ कर दिया है कि वह करप्शन के मामले में किसी तरह का समझौता नहीं करेगी और पूर्व में जेडीयू ने इस तरह की जीरो टोलरेंस पॉलिसी अपनाई भी है।

बता दें कि आरजेडी विधायक भाई वीरेंद्र ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी के पास 80 विधायक हैं और पार्टी जो चाहेगी वही होगा। उन्होंने कहा, “हमारे पास 80 विधायक हैं और हम जो चाहेंगे, वही होगा। किसी के कह देने भर से तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे।” बेनामी संपत्ति मामले में आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के बेटे और राज्य के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का नाम सामने आने के बाद बिहार में सत्ता की हलचल तेज हो गई। 11 जुलाई को जेडीयू की ओर से पार्टी विधायकों और नेताओं की अहम बैठक बुलाई गई थी। बैठक के बाद आरजेडी को तेजस्वी यादव के ऊपर लगे आरोपों का जवाब देने के लिए 4 दिन का समय दिया गया था। 4 दिन का अल्टीमेटम शनिवार को समाप्त हो रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वीडियो: JDU के अल्टीमेटम का टेंशन नहीं, बच्चों संग क्रिकेट खेले डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव
2 RJD पर JDU ने कसी नकेल, कहा- 4 दिन का वक्त दिया, उसके बाद तेजस्वी यादव पर नीतीश कुमार लेंगे फैसला
3 राजद प्रमुख लालू यादव के बेटे और नीतीश कुमार के ड‍िप्‍टी तेजस्‍वी यादव ने ल‍िखी ऐसी पोस्‍ट क‍ि पीछे पड़ गए लोग
ये पढ़ा क्या?
X