ताज़ा खबर
 

BSEB 12th Result: बिहार में इंटर परीक्षा में लगभग 60 फीसदी छात्र फेल, विपक्ष ने कहा-घपले की वजह से कलंकित हुई बिहार की शिक्षा व्यवस्था

इस वर्ष तीनों संकाय के परिणामों में पिछले साल के मुकाबले भारी गिरावट दर्ज हुई है। विज्ञान संकाय में इस वर्ष 30.11 प्रतिशत परीक्षार्थी ही सफल हो सके, वहीं कला संकाय में 37.13 प्रतिशत परीक्षार्थी सफलता पा सके।

bseb, bseb result, biharboard.ac.in, www.biharboard.ac.in, bseb result 2017, Bihar student fail, 60 percent fail, bseb intermediate result, biharboard ac in, bseb board result, bseb inter result, bihar board result, bihar board intermediate result, bihar board 12th topper, bihar result, bseb inter class result, bseb boardतस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति (बीएसईबी) ने यहां मंगलवार (30 मई) को 12वीं (इंटर) के तीनों संकाय विज्ञान, कला और वाणिज्य के परीक्षा परिणाम घोषित कर दिए। इस साल पिछले वर्ष की तुलना में तीनों संकायों के नतीजे निराशाजनक रहे हैं। विज्ञान संकाय में खुशबू 86 प्रतिशत अंक के साथ टॉपर रही। इस वर्ष इस परीक्षा में 12.61 लाख परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इस वर्ष तीनों संकाय के परिणामों में पिछले साल के मुकाबले भारी गिरावट दर्ज हुई है। विज्ञान संकाय में इस वर्ष 30.11 प्रतिशत परीक्षार्थी ही सफल हो सके, वहीं कला संकाय में 37.13 प्रतिशत परीक्षार्थी सफलता पा सके। जबकि वाणिज्य संकाय में 73.76 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल रहे। भाजपा के वरिष्ठ नेता और बिहार विधानसभा की लोक लेखा समिति के सभापति नंदकिशोर यादव ने कहा कि 12वीं (इंटर) के परीक्षा परिणाम ने राज्य की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है। उन्होंने कहा, “बिहार की मेधा का पूरी दुनिया में लोहा माना जाता है, लेकिन इंटर के परिणाम ने उसे धूलधूसरित कर दिया है। पिछले वर्ष घपला-घोटाले के बदनुमा दाग से शिक्षा व्यवस्था कलंकित हुई, तो इस बार चौपट शिक्षा व्यवस्था के कारण।”

इधर, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि जहां सभी राज्यों के बोर्ड के अच्छे नतीजे आ रहे हैं, वहीं बिहार इंटर के परीक्षा परिणाम से यह पता चलता है कि यहां शिक्षा व्यवस्था चौपट है। विज्ञान संकाय में 86 प्रतिशत अंक के साथ खुशबू कुमारी (सिमुलतला आवासीय विद्यालय, जमुई), जबकि वाणिज्य संकाय में प्रियांशु जयसवाल (कॉलेज ऑफ कॉमर्स, पटना) राज्य टॉपर रहे। प्रियांशु ने 81.60 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं। कला संकाय में राजकीय आर.एन.एस़ उत्क्रमित मध्य विद्यालय, चकारी, समस्तीपुर के छात्र गणेश टॉपर रहे, जिन्होंने 82.69 प्रतिशत अंक हासिल किए हैं।

पिछले वर्ष विज्ञान संकाय में जहां 66.16 प्रतिशत परीक्षार्थी सफल रहे थे, वाणिज्य संकाय में 79.37 प्रतिशत तथा कला संकाय में 55.62 प्रतिशत ही सफल रहे थे। वर्ष 2015 की बात करें तो उस वर्ष विज्ञान संकाय में 88.64 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने सफलता पाई थी, जबकि कला संकाय में 85.54 प्रतिशत व वाणिज्य संकाय में 89.85 प्रतिशत छात्र सफल हुए थे। परीक्षा समिति के अध्यक्ष आनंद किशोर ने परीक्षा परिणाम जारी करते हुए बताया कि परिणाम प्रकाशित करने से पहले काफी सावधानी बरती गई है और इस वर्ष परीक्षा में नकल रोकने को लेकर भी काफी सावधानियां बरती गई थी। गौरतलब है कि पिछले वर्ष इंटर टॉपर्स को लेकर एक बड़ा घोटाला सामने आया था। इसके बाद इस घोटाले में संलिप्त रहने के आरोप में समिति के तत्कालीन अध्यक्ष और सचिव सहित कई लोगों को गिरफ्तार किया गया था और बिहार की देशभर में किरकिरी हुई थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार: तेज प्रताप यादव ने ज्योतिषी की सलाह पर बदला घर का मेन गेट, 50 साल पुरानी 5 झुग्गियां तुड़वाईं
2 इस वायरल वीडियो में देखिए पकड़ी गई बियर की बोतलों के साथ क्या कर रही है बिहार पुलिस
3 CBSE Board Result: 12वीं परीक्षा में नहीं हुआ पास तो मारी खुद को गोली
IPL 2020 LIVE
X