ताज़ा खबर
 

बिहार में बोले अमित शाह- लालू यादव के सहयोगी हैं राहुल, अब सिर्फ ‘चारा’ की भाषा समझते हैं

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी को मोदी सरकार के काम-काज का हिसाब पुछने से पहले नेहरु-इंदिरा-राजीव और सोनिया गांधी के कामकाज का हिसाब देना चाहिए। उन्होंने कहा, "राहुल बाबा जगह-जगह घुमते हैं और पूछते हैं कि मोदी जी ने क्या किया।" अमित शाह ने कहा गांधी परिवार के राजकुमार को ये सवाल पूछने का हक नहीं है, क्योंकि उन्हें पहले अपने परिवार द्वारा देश में किये गये काम का हिसाब देना चाहिए।"

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पटना स्थित सरकारी गेस्ट हाउस में नाश्ते के दौरान मिले (फोटो-पीटीआई, 12-07-18)

बिहार के एनडीए साझेदारों के साथ टेंशन कम करने पटना पहुंचे बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह कांग्रेस पर जमकर बरसे। अमित शाह ने कांग्रेस और आरजेडी की दोस्ती पर तंज कसा और कहा कि राहुल सिर्फ ‘चारा’ की बात समझते हैं। राहुल गांधी पर हमला करते हुए अमित शाह ने कहा, “पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में बीजेपी सरकार ने पाकिस्तान को सर्जिकस स्ट्राइक के जरिये जोरदार जवाब दिया, लेकिन ‘राहुल बाबा’ इसे नहीं समझेंगे क्योंकि वे अब लालू यादव के सहयोगी हैं और वे अब सिर्फ ‘चारा’ की ही भाषा समझते हैं। दरअसल अमित बिहार के चर्चित चारा घोटाले का जिक्र कर रहे थे। अमित शाह ने कहा कि बिहार का समृद्ध इतिहास रहा है। उन्होंने कहा कि ये वही राज्य है जहां से जय प्रकाश नारायण के नेतृत्व में कांग्रेस मुक्त भारत अभियान की शुरुआत हुई है।

एक दूसरे का अभिवादन करते नीतीश कुमार और अमित शाह (फोटो-पीटीआई)

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी को मोदी सरकार के काम-काज का हिसाब पुछने से पहले नेहरु-इंदिरा-राजीव और सोनिया गांधी के कामकाज का हिसाब देना चाहिए। उन्होंने कहा, “राहुल बाबा जगह-जगह घुमते हैं और पूछते हैं कि मोदी जी ने क्या किया।” अमित शाह ने कहा गांधी परिवार के राजकुमार को ये सवाल पूछने का हक नहीं है, क्योंकि उन्हें पहले अपने परिवार द्वारा देश में किये गये काम का हिसाब देना चाहिए। अमित शाह ने कहा कि उनकी सरकार का मिशन 2022 तक हर व्यक्ति को घर और हर घर में बिजली देने का लक्ष्य है, लेकिन राहुल गांधी के परिवार ने पिछले 55 सालों में देश के लिए क्या किया।”

इससे पहले आज (12 जुलाई) सुबह अमित शाह बिहार के सीएम नीतीश कुमार के साथ गर्मजोशी से मिले। दोनों नेताओं ने साथ में नाश्ता किया। इस दौरान दोनों नेताओं के मुस्कुराते चेहरे मीडिया ने कैमरे में कैद किये। माना जाता है कि इस बैठक में दोनों नेताओं ने अगले वर्ष प्रस्तावित लोकसभा चुनावों को देखते हुये वर्तमान राजनीतिक स्थिति पर चर्चा की। पिछले साल जदयू राष्ट्रीय अध्यक्ष कुमार के राजद और कांग्रेस के साथ बने महागठबंधन से हटकर राजग में वापस आने के बाद से शाह का इस राज्य का यह पहला दौरा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App