ताज़ा खबर
 

अर्जित की गिरफ्तारी नहीं होने पर BJP MP का निशाना, तेजस्वी बोले- नागपुर से कंट्रोल हो रहे नीतीश

स्वामी ने कहा है कि नीतीश कुमार से पूछा जाना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है, पुलिस क्या कर रही है, पुलिस के पास वारंट है, उन्हें आगे जाना चाहिए और उसे पकड़ना चाहिए। तेजस्वी यादव ने स्वामी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि नीतीश कुमार अब नागपुर से नियंत्रित हो रहे हैं।

भागलपुर में हिन्दू नववर्ष के मौके पर जुलूस में शामिल केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत (पीले कपड़ों में) फोटो-फेसबुक

वारंट के बावजूद केंद्रीय स्वास्थ्य राज्यमंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अर्जित शाश्वत की गिरफ्तारी ना हो पाने पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार से लगातार सवाल पूछे जा रहे हैं। इस मामले में आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार को डरपोक कहा है और आरोप लगाया है कि अर्जित के खिलाफ वारंट सिर्फ दिखावे के लिए है। सिर्फ आरजेडी ही नहीं बीजेपी सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने भी इस मामले में नीतीश कुमार पर हमला बोला है। स्वामी ने कहा है कि नीतीश कुमार से पूछा जाना चाहिए कि ऐसा क्यों हो रहा है, पुलिस क्या कर रही है, पुलिस के पास वारंट है, उन्हें आगे जाना चाहिए और उसे पकड़ना चाहिए। तेजस्वी यादव ने स्वामी के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि नीतीश कुमार अब नागपुर से नियंत्रित हो रहे हैं।

बता दें कि बिहार के भागलपुर जिले के नाथनगर में 17 मार्च को हिंदू नववर्ष के मौके पर एक जुलूस निकाला गया था जिस पर पथराव की घटना हुई थी। इसके बाद दो समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए थे। पुलिस ने आशंका जताई कि जुलूस में शामिल कुछ लोगों ने ‘भड़काऊ’ नारे लगाए जिसकी वजह से हिंसा भड़की। इस मामले में पुलिस ने अर्जित शाश्वत के खिलाफ केस दर्ज किया था। अब इस मामले में उसके खिलाफ वारंट जारी किया गया है।

अर्जित की गिरफ्तारी में नाकाम रहने पर तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार पुलिस शाश्वत को जगह-जगह ढूंढ़ रही लेकिन वह पटना में सीएम आवास के बगल में ही मौजूद था। तेजस्वी ने ट्वीट किया, “बिहार के ढोंगी व पाखण्डी मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे के दंगाई सुपुत्र पर दिखावटी ‘अरेस्ट वारंट’ निकाल रखा है लेकिन वह पटना में CM आवास के बग़ल में ही BJP विधायकों की मौजूदगी में तलवार थामे Facebook Live कर रहा था। कितनी दोगली है नीतीश सरकार? जी हाँ, दोगली!” तेजस्वी यादव ने कहा है कि नीतीश कुमार को डरपोक नहीं बनना चाहिए और कानून के मुताबिक कार्रवाई करनी चाहिए। इधर केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने अपने बेटे के खिलाफ दर्ज एफआईआर को कूड़ा बताया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App