ताज़ा खबर
 

मौजूदा बीजेपी सांसद ने तीन साल के लालू के बेटे को ग‍िफ्ट की थी 13 एकड़ जमीन, डीड में ल‍िखा- तेज प्रताप बहुत खयाल रखता है

तेज प्रताप यादव को ये तोहफा लालू प्रसाद यादव सरकार में मंत्री रहे आरजेडी नेता बृज बिहारी प्रसाद की पत्नी रमा देवी ने दिया था।
Author July 5, 2017 14:07 pm
लालू यादव और राबड़ी देवी के बेटे तेज प्रताप यादव (बाएं) और तेजस्वी यादव। (फाइल फोटो)

लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार पर लगने वाले आरोपों की सिलसिला थम नहीं रहा है। बिहार बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने मंगलवार (चार जुलाई) को नीतीश कुमार सरकार में मंत्री और आरजेडी नेता तेज प्रताप यादव पर एक और आरोप लगा दिया। सुशील मोदी के अनुसार बिहार के पूर्व मुख्यमंत्रियों लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव को 1992 में गिफ्ट में 13 एकड़ से ज्यादा जमीन मिली थी। 13 एकड़ और 12 डिसमिल जमीन का गिफ्ट मिलने के वक्त तेज प्रताप की उम्र करीब तीन साल थी। उस समय उनके पिता बिहार के मुख्यमंत्री थे। तेज प्रताप को ये तोहफा लालू सरकार में मंत्री रहे आरजेडी नेता बृज बिहारी प्रसाद की पत्नी रमा देवी ने दिया था।

गिफ्ट के दस्तावेज के अनुसार रमा देवी ने तेज प्रताप को मुजफ्फरपुर के किशनगंज मौजा में स्थित दो भूखंड उपहार में दिए थे। एक भूखंड का रकबा नौ एकड़ 24 डिसमिल है और दूसरे का तीन एकड़ 88 डिसमिल। तेज प्रताप को ये गिफ्ट 23 मार्च 1992 को मिला था। गिफ्ट के दस्तावेज में लिखा गया है, “हालांकि तेज प्रताप नाबालिग है लेकिन वो रमा देवी का यथासंभव ख्याल रखता है। रमा देवी उसके बरताव से खुश होकर उसे उपहार में जमीन देने का फैसला किया।”

सुशील मोदी द्वारा मंगलवार को आरोप लगाए जाने के बाद रमा देवी ने मीडिया से कहा, “हां, मैंने अपने पति के कहने पर तेज प्रताप को जमीन तोहफे में दी थी। हम उस जमीन का इस्तेमाल नहीं करते थे। मेरे पति ने कहा कि लालू प्रसाद यादव को जमीन देने पर इलाके में बिजली और सड़क आ जाएंगे। वो (लालू) उस समय सीएम थे। जमीन देने के पीछे और कोई वजह नहीं थी।” हालांकि तोहफे के दस्तावेज में बताए गए कारणों पर रमा देवी ने कुछ नहीं कहा।

रमा देवी के पति और लालू सरकार में मंत्री बृज बिहारी प्रसाद की 1998 में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। उसी साल रमा देवी पहली बार आरजेडी के टिकट पर लोक सभा सांसद बनी थीं। बाद में रमा देवी बीजेपी में चली गईं। वो साल 2009 और 2014 में बीजेपी के टिकट पर सांसद बनीं। सुशील मोदी ने आरोप लगाते हुए कहा, “गिफ्ट के दस्तावेज से मैं हैरान नहीं हूं। ये साफ हो चुका है कि लालू प्रसाद लोगों का काम करने के बदले उनसे जमीन लेते रहे हैं।” सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि संभव है, लालू के बेटे को ये जमीन बृज बिहार प्रसाद को मंत्री बनाए जाने के एवज में दी गई हो।

आरजेडी ने सुशील मोदी के सभी आरोपों को निराधार बाताय। आरजेडी प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव ने कहा, “सब कुछ सार्वजनिक है। अगर देने वाले (रमा देवी0 को दिक्कत नहीं है तो सुशील मोदी को क्या तकलीफ है?” पिछले कुछ समय में लालू यादव के परिवार को किसी बाहरी व्यक्ति द्वारा जमीन-मकान दिए जाने के ये पांचवा मामला सामने आया है। इससे पहले रघुनाथ झा, कांति सिंह, लल्लन सिंह, हृदयानांद चौधरी द्वारा लालू परिवार को उपहार में जमीन या मकान देने का मामला सामने आ चुका है।

वीडियो- लालू यादव के विधायक ने की पत्रकार के संग गालीगलौज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.