ताज़ा खबर
 

बिहार में भी शुरू हुई “बीफ निगरानी”, BJP नेता ने कहा- अब हमारी सरकार है, मुस्लिम बहुल क्षेत्र को बताया गड़बड़ी वाला इलाका

शुक्रवार को स्थानीय लोगों और पुलिस सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि जिन लोगों को ट्रक को रोका था उनमें बीजेपी नेता चंदन पांडेय, अंकित पांडेयस राकेश तिवारी और पंकज तिवारी तथा बजरंग दल कार्यकर्ता निशू राव, कृष्णकांत सिंह तथा धोनी शामिल थे।

Author शाहपुर | August 5, 2017 11:10 AM
बिहार में बीफ के शक में बीजेपी नेताओं ने रोका ट्रक। (Photo Source: Express Photo/Santosh Singh

बिहार के भोजपुर जिले में एक ट्रक को रोकने और उसके सवार एक शख्स को बीफ ले जाने के शक में कथित रूप से पीटने की घटना बीजेपी और बजरंग दल कार्यकर्ताओं की सुनियोजित चाल थी। उनका कहा कि वे पुलिस के सामने सबूत पेश करना चाहते हैं ताकि वह “अवैध” मांस व्यापारियों के खिलाफ कार्रवाई करें। बीजेपी राज्य कार्यकारिणी के सदस्य भुवर ओझा ने इंडियन एक्सप्रेस से कहा, “हमने पुलिस को शाहपुर के रानीसागर क्षेक्ष में चल रहे अवैध बूचड़खाने के बारे में कुछ समय से जानकारी दे रहे थे लेकिन पुलिस ने हमारी बात नहीं मानी।” अब बीजेपी राज्य सरकार का हिस्सा है, जिससे हमारा मनोबल बढ़ गया है। ओझा ने शाहपुर विधानसभा के अंदर आने वाले मुस्लिम बहुल क्षेत्र रानीसागर और बगाही को गड़बड़ी वाला इलाका बताया। लेकिन, उन्होंने कहा कि बिहार भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उनसे यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि “कोई अप्रिय घटना नहीं हुई।” ओझा ने कहा कि हम आज किसी तरह का विरोध प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं, क्योंकि हमें उम्मीद है कि पुलिस कार्रवाई करेगी। हम इस समय अपनी सरकार के खिलाफ विरोध नहीं करेंगे।

गुरुवार को राज्य में बीफ सतर्कता का पहला मामला सामना आया। अवैध मांस व्यापार से निपटने में “पुलिस निष्क्रियता” पर शाहपुर में विरोध प्रदर्शन किया गया। जिसके बाद पुलिस ने चार लोगों को बीफ कारोबार से जुड़े होने के आरोप में 4 लोगों को गिरफ्तार किया। इसमें अवैध बूचड़खाने का मालिक और ट्रक में सवार सर्फुद्दीन खान, अजमुल्ला खान और गुलाम खान शामिल थे। ट्रक से मिले मीट सैंपल को जांच के लिए लैब भेजा गया है। पशु अधिनियम 1955 के तहत बिहार में गाय और भैस काटने पर प्रतिबंध है।

शुक्रवार को स्थानीय लोगों और पुलिस सूत्रों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि जिन लोगों को ट्रक को रोका था उनमें बीजेपी नेता चंदन पांडेय, अंकित पांडेयस राकेश तिवारी और पंकज तिवारी तथा बजरंग दल कार्यकर्ता निशू राव, कृष्णकांत सिंह तथा धोनी शामिल थे। सूत्रों ने कहा कि ट्रक को लेकर पहला अलर्ट शाहपुर बीजेपी के महासचिव चंदन पांडेय द्वारा चलाए जा रहे व्हॉट्सऐप ग्रुप ‘भोजुपर न्यूज’ पर चला था। स्थानीय पुलिस स्टेश के इंचार्ज बिपिन कुमार भी इस ग्रुप के सदस्य हैं। सूत्रों के मुताबिक बुधवार देर रात पांडेय ने ग्रुप पर इस बात की जानकारी दी कि पश्चिम बंगाल से ट्रक रानीसागर से 5 किलोमीटर से होकर गुजरेगा। 2बजे के करीब 15 बीजेपी और बजरंग दल कार्यकर्ता ट्रक को रोकने के लिए पेट्रोल पंप पहुंच गए।

सूत्रों के मुताबिक गुरुवार को सुबह करीब 5.15 बजे बीजेपी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने ट्रक को रोकने का कोशिश की। जिसके बाद ड्राउवर ने गाड़ी की स्पीड बढ़ा दी, लेकिन सामने से आ रहे ट्रैक्टर के कारण ड्राइवर को ट्रक रोकना पड़ा। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में चंदन पांडेय ने ट्रक में सवार तीन लोगों की पिटाई की बात से इंकार किया है और वीडियो दिखाय जिसमें ड्राइवर 10-12 टन बीफ ले जाने की बात स्वीकार कर रहा है। उन्होंने कहा कि हम पर सिर्फ आरोप लगाए जा रहे हैं कि हमने उनके साथ मारपीट की है। हमारा काम था उन लोगों को रंगे हाथों पकड़ना।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App