ताज़ा खबर
 

बिहार: मुस्लिमों ने पेश की मिसाल, मंदिर के लिए दान की जमीन, निर्माण कार्य के लिए पैसे भी दिए

स्थानीय लोगों ने बताया कि उन्होंने ऐसा धार्मिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए किया है।

इससे पहले लखनऊ में एक मुस्लिम व्यापारी ने 51 मंदिर निर्माण के लिए जमीन देने की पेशकश की (ani photo)

बिहार में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने धार्मिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए सराहनीय काम किया है। इन लोगों ने गया के गुरारु में मंदिर निर्माण के लिए अपनी जमीन दान में दे दी। इसके अलावा मुस्लिमों ने मंदिर निर्माण के लिए वित्तीय मदद की है। न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक बात करने पर स्थानीय लोगों ने बताया कि उन्होंने ऐसा धार्मिक सौहार्द को बढ़ावा देने के लिए किया है। मुस्लिम समुदाय के एक शख्स ने बताया कि सभी यहां एक साथ मिलकर रहते हैं। यह संदेश देशभर में जाना चाहिए। शख्स के मुताबिक मंदिर निर्माण के लिए ना सिर्फ पूरा गांव समर्थन में आया बल्कि सभी ने इसके निर्माण कार्य में पूरी मदद की।

बता दें कि इससे पहले लखनऊ में एक मुस्लिम व्यापारी ने 51 मंदिर निर्माण के लिए जमीन देने की पेशकश की। इसके साथ ही वित्तीय मदद करने की भी घोषणा की। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक इन मंदिरों का निर्माण यूपी के अलग-अलग हिस्सों के अलावा बिहार में भी किया जाएगा।

न्यूज 18 में प्रकाशि हुई एक खबर के मुताबिक मंदिर निर्माण की घोषणा करने वाले शख्स का नाम राशिद नदीम है। वह शाइन ग्रुप के चेयरमैन हैं। मामले में जब राशिद के निर्णय पर उनसे बात की गई तो उन्होंने बताया कि यह अवध की गंगा-जमुनी तहजीत एक बार फि जीवित करेगा। उन्होंने आगे कहा कि इससे धार्मिक सौहार्द को बढ़ावा देने में काफी मदद मिलेगी।

मंदिर निर्माण कार्य पर राशिद कहते हैं कि इस साल 21 मंदिरों का निर्माण कराना उनका लक्ष्य है। जबकि अगला साल खत्म होने से पहले सभी 51 मंदिरों का निर्माण पूरा कर लिया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App