ताज़ा खबर
 

Video: बिहार के मंत्री ने नरेंद्र मोदी को बताया ‘डकैत’, समर्थकों से कहा- पीएम की तस्वीर को जूता मारो

यह वीडियो 22 फरवरी का है, जब कांग्रेस नेता मस्तान नोटबंदी के खिलाफ आयोजित की गई रैली को संबोधित कर रहे थे

मंत्री ने कहा कि वो (पीएम मोदी) आया नहीं है। उसकी पिक्चर लगी है। इसलिए आज जूता मारा जाए।

बिहार मद्य निषेध एवं उत्पाद मंत्री और कांग्रेस नेता अब्दुल जलील मस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपशब्द कहकर विवाद पैदा कर दिया है। एक जनसभा की वीडियो में वह पीएम मोदी को डकैत कहते दिख रहे हैं, साथ ही समर्थकों से पीएम की तस्वीर को जूता मारने का आदेश दे रहे हैं। वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो गई है, साथ ही विवाद भी पैदा हो गया है। बताया जा रहा है कि यह वीडियो 22 फरवरी का है, जब कांग्रेस नेता मस्तान पुर्णिया जिले में अपने चुनावी क्षेत्र अमौर में नोटबंदी के खिलाफ आयोजित की गई जन वेदना रैली को संबोधित कर रहे थे।

वीडियो में मस्तान को भीड़ से कहते हुए सुना गया कि प्रधानमंत्री ने कहा था कि अगर वह 50 दिनों में लोगों की कठिनाई को खत्म नहीं कर पाएंगे तो वह कोई भी सजा पाने को तैयार हैं। मंत्री ने मंच पर रखी एक कुर्सी पर प्रधानमंत्री की तस्वीर रखवाई थी। वीडियो में मंत्री कह रहे हैं, “वो (पीएम मोदी) आया नहीं है। उसकी पिक्चर लगी है। इसलिए आज जूता मारा जाए।” भीड़ में मौजूद लोग भी जूता मारो-जूता मारो के नारे लगाने लगे। मंत्री के मंच पर मौजूद रहने के दौरान ही कुछ उत्साहित कार्यकर्ताओं ने बिना समय गवाएं प्रधानमंत्री की तस्वीर पर जूते-चप्पल मारे।

एक टीवी चैनल पर उक्त वीडियो को दिखाए जाने से नाराज भाजपा ने कहा कि वह इस मामले को बिहार विधानमंडल में उठाते हुए उक्त मंत्री को बर्खास्त किए जाने की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मांग करेगी। मोदी ने कहा कि किसी से विचारधारा का विरोध हो सकता है। संविधान किसी भी व्यक्ति जो एक राज्य में एक मंत्री है, को प्रधानमंत्री को इस प्रकार से अपमानित करने के लिए भीड़ को उकसाने के लिए अनुमति नहीं देता है।

उधर बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने मंत्री अब्दुल जलील को उनके इस बयान के लिए लताड़ लगाई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App