ताज़ा खबर
 

बिहार: सरकारी हॉस्पिटल में झपकी लेते पकड़ा गया डॉक्टर, अपनी जगह दलालों से कराता है इलाज

मरीजों से हो रहे इस खिलावाड़ की यह घटना जहानाबाद के सदर अस्पताल की थी।

1. PHYSICIAN Average Base Salary: US $212,270

बिहार राज्य में शिक्षा की स्थिति कितनी खराब है इसका अंदाजा तो उनके टॉपर्स से लग ही रहा है, इसके अलावा राज्य के स्वास्थ्य विभाग के हालात भी कुछ उम्दा नहीं है। एक न्यूज चैनल की रिपोर्ट में बिहार के जहानाबाद में एक सरकारी हॉस्पिटल के डॉक्टर नींद लेते पकड़े गए। इतना ही नहीं, वह अपनी जगह दलालों से मरीजों का इलाज करा रहे हैं। मरीजों से हो रहे इस खिलावाड़ की यह घटना जहानाबाद के सदर अस्पताल की थीं।

ABP न्यूज की रिपोर्ट में एक मरीज के परिजन दिवाकर पांडे ने कहा, “हमें लगा वो डॉक्टर हैं और उन्हीं को अपने बेटे की परेशानी बताई। बाद में पता लगा कि वो डॉक्टर नहीं हैं। डॉक्टर साहब तो सोए हुए हैं।” एक स्थानीय निवासी ने बताया कि नंदा नाम के डॉक्टर अपने साथ एक दलाल को लेकर आते हैं। वह हॉस्पिटल में सोते रहते हैं और दलाल ही इलाज करता है। वह अक्सर मरीजों को पटना के एक हॉस्पिटल के लिए रेफर कर देते हैं। वहीं कैमरे में खुद डॉक्टर नंदा भी सोने की बात को कबूलते नजर आए। डॉक्टर ने कहा, “मुझे नींद आ गई थी। उन्हें मुझे उठा देना चाहिए था मगर नहीं।”

बता दें कि इससे पहले 3 जून को बिहार राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था की पोल खोलने वाली एक घटना सामने आई थी। मुजफ्फरपुर सदर अस्पताल में महिला के शव को कूड़ा उठाने वाले ट्रॉली में रखकर पोस्टमार्टम के लिए ले जाती तस्वीरें सामने आई थीं। पूर्णिया के सदर अस्पताल में एक महिला की मौत के बाद अस्पताल की लापरवाही की वजह से उसके परिवारवालों को शव मोटरसाइकिल में बांधकर ले जाना पड़ा था। जानकारी के मुताबिक, 50 साल की सुशीला देवी की मौत इस अस्पताल में हुई थी। मौत के बाद पति ने शव ले जाने के लिए वाहन की मांग की थी, लेकिन वाहन उपलब्ध नहीं कराया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App