ताज़ा खबर
 

बिहार में एपीएल परिवारों के लिए मुफ्त बिजली कनेक्शन शुरू

सरकार ने सात संकल्पों के तहत किए गए वादों को सरकार के एक साल के भीतर लागू करने के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन शुरू कर दिया है।
Author पटना | November 16, 2016 03:08 am
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार। (फाइल फोटो)

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनावी वादा निभाते हुए मंगलवार को गरीबी रेखा से ऊपर (एपीएल) जीवन यापन करने वाले करीब 50 लाख घरों को मुफ्त बिजली का कनेक्शन मुहैया कराने का एक प्रमुख कार्यक्रम शुरू किया। कुमार ने यहां एक कार्यक्रम में ‘हर घर बिजली लगातार’ कार्यक्रम शुरू किया। यह विधानसभा चुनाव में प्रदेश में सत्तारूढ़ जद (एकी) की ओर से किया गया एक प्रमुख चुनावी वादा था। इसका उद्देश्य बिहार में अगले दो सालों में प्रत्येक घर को बिजली की आपूर्ति मुहैया कराना है।

बिहार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, बिजली मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, मुख्य सचिव अंजनि कुमार सिंह और प्रधान सचिव (बिजली) प्रत्यय अमृत कार्यक्रम में मौजूद थे। प्रत्येक घर को बिजली का कनेक्शन मुहैया कराना कुमार के ‘सात संकल्पों’ में एक महत्वपूर्ण घटक था। इसे राज्य में महागठबंधन सरकार ने भी अगले पांच सालों के लिए सुशासन के लिए अच्छी नीति के तौर पर मंजूर किया है।

इस कार्यक्रम में कुमार ने कहा कि उनकी सरकार ने सात संकल्पों के तहत किए गए वादों को सरकार के एक साल के भीतर लागू करने के लिए योजनाओं का क्रियान्वयन शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम के तहत गरीबी रेखा से ऊपर जीवन यापन करने वाले ऐसे करीब 50 लाख घरों को बिजली के कनेक्शन मिलेंगे जिनके पास बिजली के कनेक्शन नहीं हैं। बीपीएल परिवार ग्रामीण विद्युतीकरण योजना में पहले ही शामिल हैं। कुमार ने स्पष्ट किया कि इसका उद्देश्य मुफ्त बिजली का कनेक्शन मुहैया कराना है, मुफ्त बिजली नहीं। लाभार्थियों को इस्तेमाल की जाने वाली बिजली के लिए भुगतान करना होगा।
उन्होंने कहा, ‘लक्ष्य अगले दो सालों (2018 तक) में बचे हुए घरों को बिजली के कनेक्शन से जोड़ना है।’ मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने इस उद्देश्य के लिए 1857.5 करोड़ रुपए रखे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यह काम एशियन डेवलपमेंट बैंक से कर्ज लेकर खुद के बल पर कर रही है।

बिहार: अज्ञात लोगों ने एक महिला इंजीनियर को घर में बंद कर ज़िंदा जलाया; जली हुई चप्पल देखकर मां ने की शिनाख्त

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.