मंदसौर में किसानों की हत्‍या से जुड़े सवाल पर देश के कृषि मंत्री का जवाब- योगा कीजिए - Agriculture Minister's Radha Mohan Singh Response On Mandsaur Farmer Deaths: Practise Yoga - Jansatta
ताज़ा खबर
 

मंदसौर में किसानों की हत्‍या से जुड़े सवाल पर देश के कृषि मंत्री का जवाब- योगा कीजिए

चंपारण सत्याग्रह शताब्दी स्मृति वर्ष के अवसर पर आयोजित इस शिविर का मोतिहारी के गांधी मैदान में उद्घाटन किया गया।

एमपी के सीएम ने कहा मेरी सरकार किसानों की सरकार है। जनता की सरकार है। मेरी जब तक सांस चलेगी, जनता और किसानों के लिए काम करता रहूंगा। (Photo: twitter)

केन्द्रीय कृषि एवं कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह ने योगगुरु बाबा रामदेव के तीन दिवसीय योग शिविर का पूर्वी चंपारण जिला मुख्यालय मोतिहारी में आज (8 जून ) उद्घाटन किया। वहां मौजूद पत्रकारों ने मंत्री से पूछा कि मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन चल रहा है वहां पांच किसानों की पुलिस फायरिंग में मौत हो चुकी है तो इस पर मंत्री ने कहा कि योगा कीजिए। बता दें कि मोतिहारी राधा मोहन सिंह का लोकसभा क्षेत्र है। चंपारण सत्याग्रह शताब्दी स्मृति वर्ष के अवसर पर आयोजित इस शिविर का मोतिहारी के गांधी मैदान में उद्घाटन करते हुए राधामोहन ने योग का देश और दुनिया में प्रसार करने के बाबा रामदेव के प्रयास की सराहना की और कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर संयुक्त राष्ट्र के 193 देशों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस (21 जून) पर योग अभ्यास किया।

आपको बता दें कि हजारों किसान मंदसौर में प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि उनके अनाज की उन्हें अच्छी कीमत मिले साथ ही उनके लोन माफ किये जाएं। इस आंदोलन में पुलिस फायरिंग में पांच किसानों की मौत हो चुकी है। आज (8 जून) कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी मंदसौर गए थे। वहां उन्हें पुलिस हिरासत में ले लिया गया। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्विटर पर एक वीडियो संदेश जारी करके कहा है कि वो जीवन भर जनता और किसानों के लिए काम करते रहेंगे। सीएम शिवराज सिंह ने ट्वीट किया, प्रिय बहनों,भाइयों नमस्कार! मेरी सरकार किसानों की सरकार है। जनता की सरकार है। मेरी जब तक सांस चलेगी, जनता और किसानों के लिए काम करता रहूंगा।

मंदसौर में मंगलवार (छह जून) को आंदोलनरत किसानों पर पुलिस ने गोली चला दी थी जिसमें पांच किसान मारे गए। राज्य सरकार ने पहले पुलिस की गोली से किसानों के मारे जाने से इनकार किया लेकिन गुरुवार (8 जून) को राज्य के गृह मंत्री भूपेंद्र सिंह ने माना कि किसानों की जान पुलिस की गोली से गई है। इससे पहले सिंह ने किसानों के पुलिस की गोलीबारी में मारे जाने से इनकार किया था। राज्य में किसान कर्ज माफी और फसल के उचित दाम की मांग को लेकर एक जून से हड़ताल पर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App