ताज़ा खबर
 

पुलिस के सामने लुटेरों ने किया खुलासा-सिर्फ दो रुपये खर्च किया और लूट ली राजधानी

पिछले साल भी मिर्जापुर में 1 रुपये का सिक्का रखकर सिग्नल लाल कर राजधानी एक्सप्रेस को लूटने की कोशिश की गयी थी।

Author Updated: April 14, 2017 3:19 PM
लूटकांड के बाद पटना स्टेशन पर जीआरपी में शिकायत दर्ज कराते यात्रीगण। (फोटो-PTI)

पटना राजधानी एक्सप्रेस में हुई लूट कांड में शामिल चार लुटेरों को पुलिस ने धर दबोचा है। बक्सर के अलग-अलग जगहों से पकड़े गए लुटेरों के पास से पुलिस ने लूटे गए जेवरात और नकदी बरामद की है। इसके साथ ही पुलिस ने लूट की घटना और तरीके पर से भी पर्दा उठाया है। लुटेरों की निशानदेही पर पुलिस ने दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया है। सभी लोगों से मुगलसराय में पूछताछ हो रही है। पूछताछ के क्रम में लुटेरों ने बताया कि पटना राजधानी एक्सप्रेस के ए-1, बी-7 और बी-8 बॉगी में सो रहे यात्रियों से लूटपाट की गई थी। लुटेरों ने बताया कि लूट की सामग्री में 19 हजार रुपये नकद, सोने के जेवर, घड़ी, अंगूठी, मोबाइल और पर्स शामिल है। लूट को अंजाम देने के बाद लुटेरों ने पैसे आपस में बांट लिए थे।

पुलिस ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उनमें बक्सर के पालापुर निवासी चटंदन वर्मा उर्फ ठेकुआ, बक्सर के ही करमन टोली निवासी राजा मियां, जज कॉलोनी निवलासी फतेह हुसैन और पड़री गांव निवासी ओमप्रकाश उर्फ सावंत शामिल है। इनलोगों की निशानदेही पर दो और लोगों की गिरफ्तारी पुलिस ने की है।

इस लूट कांड का मास्टर माइंड राजा मियां है जो ट्रेन के टिकटों की दलाली करता है और ऑटो भी चलाता है। लूट की घटना की रात ये लोग बक्सर से डुमरांव पहुंचे फिर वहां से गमहर पहुंचे। डुमरांव में ही इन लोगों ने लूट की प्लानिंग को अंजाम दिया। पुलिस अधिकारियों के मुताबिक राजा ने बाकी साथियों को समझा दिया ता कि आगे क्या करना है। राजा को पता था कि राजधानी एक्सप्रेस रात में 3 बजकर 30 मिनट पर गमहर से गुजरती है।

इससे पहले सभी लुटेरे वहां हथियार लेकर पहुंच गए। जैसे ही ट्रेन गमहर सिग्नल को पार करने वाली थी तभी इन लोगों ने रेलवे ज्वाइंट पर 2 रुपये का सिक्का डाल दिया, इससे सिग्नल लाल हो गया और ट्रेन रुक गई। ट्रेन रुकते ही ये लोग ट्रेन में सवार हो गए और लूट को अंजाम देकर फरार हो गए। गौरतलब है कि पिछले साल भी मिर्जापुर में 1 रुपये का सिक्का रखकर सिग्नल लाल कर राजधानी एक्सप्रेस को लूटने की कोशिश की गयी थी। इसका खुलासा मुगलसराय जीआरपी के तत्कालीन प्रभारी निरीक्षक त्रिपुरारी पाण्डेय ने की थी।

वीडियो: 'सुदर्शन न्यूज' के संपादक गिरफ्तार; नफरत फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बिहार: ट्रेन को बीच पटरी पर खड़ा कर नहाने-खाने गया ड्राइवर, यात्री करते रहे दो घंटे तक इंतजार
2 बिहार: प्रश्न पत्र छापना ही भूल गई यूनिवर्सिटी, कैंसल हुए एग्जाम
3 राजनीतिक हमलों से तंग आकर लालू ने पार्टी प्रवक्ताओं से कहा- कुछ करो न करो, सुशील मोदी पर हमला जरूर करो
ये पढ़ा क्‍या!
X