ताज़ा खबर
 

छात्रों से बोले राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव- पढ़ लिखकर कुछ बनना है तो फेसबुक और मोबाइल से रहो दूर

लालू यादव ने कहा कि बच्चों की शिक्षा और बोर्ड की मेरिट में होने वाले घोटालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव। (फाइल फोटो)

पढ़-लिखकर कुछ बनना है तो छोड़ दो फेसबुक और मोबाइल। यह कहना है आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव का। रविवार को पटना के श्री कृष्ण मेमोरियल हॉल में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे लालू प्रसाद यादव ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोगों को अगर पढ़-लिखकर कुछ बनना है तो आपको फेसबुक और मोबाइल फोन से दूर रहना पड़ेगा। इन चीजों से दूर रहोगे तभी भविष्य में कुछ बन पाओगे। इसके बाद अभिभावकों को सलाह देते हुए लालू ने कहा कि बच्चों की हर गतिविधि पर आपलोगों को भी ध्यान देना चाहिए।

छात्रों को संबोधित करते हुए लालू ने कहा इस फेसबुक में कुछ नहीं रखा है इससे अच्छा तो आप लोगों को उन किताबों को अपना साथी बनाना चाहिए जिनसे ज्ञान मिलता है। अगर आप ज्ञान की किताबों को अपना दोस्त बनाएंगे तो कोई भी आपकी कामयाबी को रोक नहीं पाएगा। हाल ही में बिहार में परीक्षाओं के पेपर लीक के मामले पर बात करते हुए लालू ने कहा कि परीक्षाओं में बहुत गड़बड़ की गई हैं। बच्चों की शिक्षा और बोर्ड की मेरिट में होने वाले घोटालों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इन मामलों में जो भी व्यक्ति दोषी होंगे उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद लालू ने कहा हम चाहते हैं कि देश में बिहार के बच्चे परीक्षाओं में प्रथम स्थान पर आएं।

आरजेडी अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय स्वंय सेवक संघ पर भी निशाना साधा। लालू ने बिना मोदी का नाम लिए हुए कहा वो देश का प्रधानमंत्री बनने के लायक बिल्कुल भी नहीं है। इसके बाद लालू ने कहा कि आरएसएस का उद्देश्य एंटी-रिजर्वेशन, एटी-संविधान, एंटी-दलित और अल्प संख्यक हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस के लोग केवल जाति धर्म के नाम पर लोगों को बांटते हैं। वे भूल गए हैं कि यह हिन्दुसतान हर जाति और धर्म के लोगों का देश है।

देखिए वीडियो - प्रधानमंत्री मोदी पर लालू प्रसाद यादव बोले- “पीएम को अपनी बेगुनाही साबित करनी चाहिए”

देखिए वीडियो - बिहार स्टाफ परीक्षा का पर्चा लीक; पुलिस ने आयोग के सचिव को हिरासत में लिया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App