Patna news, lalu family angry with nitish after not print tejasvi name in invitation card of bihar diwas 2017 - बिहार दिवस के निमंत्रण कार्ड पर तेजस्वी यादव का नाम न होने से नाराज लालू का परिवार, कार्यक्रम में नहीं हुआ शामिल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बिहार दिवस के निमंत्रण कार्ड पर तेजस्वी यादव का नाम न होने से नाराज लालू का परिवार, कार्यक्रम में नहीं हुआ शामिल

आरजेडी ने नीतीश कुमार और शिक्षा मंत्री से सवाल किया कि इतने महत्वपूर्ण कार्यक्रम में डिप्टी सीएम होने के नाते तेजस्वी यादव का नाम निमंत्रण कार्ड पर क्यों नहीं लिखा गया।

तेजस्वी यादव – बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री

बिहार की राजधानी पटना के गांधी मैदान में बुधवार को बिहार दिवस के अवसर पर शानदार कार्यक्रम का आयोजन किया गया था लेकिन इस कार्यक्रम में आरजेड़ी सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव का पूरा परिवार शामिल नहीं हुआ। इसके पीछे डिप्टी सीएम और लालू के बेटे तेजस्वी यादव का नाम निमंत्रण कार्ड पर न छपा होना बताया जा रहा है। इस मामले के बाद बिहार की राजनीति में एक बार फिर से गरमाहट हो गई है। इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  के अलावा बाकी के सभी मंत्री मौजूद थे। पहले तो इस विषय को लेकर तेजस्वी नीतीश से नाराज होकर बैठ गए और फिर इसके बाद लालू ने फैसला किया कि परिवार का कोई भी सदस्य कार्यक्रम में शामिल नहीं होगा। जब इस बारे में तेजस्वी से कार्यक्रम में शामिल न होने की वजह पूछी गई तो उन्होंने कहा कि वह अस्वस्थ महसूस कर रहे थे जिसके कारण वह इसमें शामिल नहीं हुए।

अब यह मुद्दा सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बन चुका है। आरजेडी ने नीतीश कुमार और शिक्षा मंत्री से सवाल किया कि इतने महत्वपूर्ण कार्यक्रम में डिप्टी सीएम होने के नाते तेजस्वी यादव का नाम निमंत्रण कार्ड पर क्यों नहीं लिखा गया। इसके साथ ही आरजेडी ने मांग की है कि जिन अधिकारियों से इतनी बड़ी गलती हुई है उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, जिससे कि इस प्रकार की गलती दोबारा न हो सके। वहीं इस पर जेडीयू प्रवक्ता नीरज कुमार का कहना है कि इस कार्यक्रम में तेजस्वी यादव का अपने परिवार समेत न आना उनका कोई निजी कारण हो सकता है। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम को मंत्रिमंडल की सहमति से आयोजित किया गया था।

आपको बता दें कि बिहार दिवस के मौके पर छपे निमंत्रण पत्र में उदघाटनकर्ता के तौर पर मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री दोनों का ही नाम लिखा हुआ था लेकिन डिप्टी सीएम का नाम उसमें नहीं था। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि तेजस्वी डिप्टी सीएम होने के बावजूद सरकार में अपनी जगह नहीं बना पाए हैं.

देखिए वीडियो - बिहार: न्यायिक सेवा भर्ती में 50% आरक्षण दिए जाने को मंज़ूरी, कैबिनेट ने लिया फैसला

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App