11 साल की लड़की को पंचायत की सलाह- 7 साल रुको, फिर बलात्कारी से शादी कर लेना, थाने जाने के जरूरत नहीं - panchayat told to 11 year old rape victim girl that wait 7 year and marry with accused dont complaint in vaysi of purnea - Jansatta
ताज़ा खबर
 

11 साल की लड़की को पंचायत की सलाह- 7 साल रुको, फिर बलात्कारी से शादी कर लेना, थाने जाने के जरूरत नहीं

यह मामला उस समय सामने आया जब जिला एसपी निशांत कुमार तिवारी के जनता दरबार में लड़की के एक परिजन ने उन्हें इस घटना के बारे में बताया।

Author पुर्णिया | June 10, 2017 11:39 AM
इस तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बिहार के पुर्णिया जिले में पंचायत ने 11 साल की रेप पीड़ित बच्ची को फरमान सुनाते हुए कहा कि आरोपी के खिलाफ पुलिस में शिकायत मत दर्ज कराओ बल्कि सात साल इंतजार करके उससे शादी कर लेना। यह मामला व्यासी पुलिस थाना क्षेत्र का है। एक पुलिस अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार यह मामला उस समय सामने आया जब जिला एसपी निशांत कुमार तिवारी के जनता दरबार में लड़की के एक परिजन ने उन्हें इस घटना के बारे में बताया। एसपी ने तुरंत मामले के जांच के ऑर्डर देते हुए व्यासी पुलिस थाने के एसएचओ तरकेश्वर प्रसाद सिंह को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर, उसे गिरफ्तार करने के लिए कहा।

सिंह ने उन लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है जो कि फैसला सुनाने वाली पंचायत में शामिल थे। इस मामले पर बात करते हुए एसपी तिवारी ने कहा कि रेप एक बहुत ही गंभीर अपराध है और पंचायत को कोई हक नहीं की इसमें कोई फैसला सुनाए। एसपी ने दावे के साथ कहा कि पीड़ित बच्ची को न्याय जरुर मिलेगा। एसएचओ सिंह ने बताया कि एसपी द्वारा दिए गए निर्देश पर आरोपी माणिक कुमार बासक व अन्य पांच लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। सिंह ने बताया कि जब आरोपियों को पकड़ने गए तो वे भाग चुके थे। एसएचओ ने कहा कि बच्ची के साथ रेप करने वाला आरोपी माणिक उसका पड़ोसी है।

एसपी के पास दायर की गई एक याचिका के अनुसार पीड़िता के साथ 23 मई को उस समय रेप हुआ जब वह घर में अकेली थी। उसके परिजन खेत में काम करने के लिए गए हुए थे और जब वे काम से शाम को वापस आए तो पीड़िता ने आपबीती उन्हें सुनाई। परिजनों ने आरोपी के खिलाफ केस दर्ज कराने की बात कही तो यह मामला पंचायत में चला गया। पंचायत ने फैसला सुनाते हुए पीड़िता और उसके परिजनों से कहा कि कोई केस दर्ज कराने की जरुरत नहीं है। सात साल इंतजार करो और जब लड़की बड़ी हो जाएगी तो आरोपी से इसकी शादी करा देंगे। पंचायत के इस फैसले के बाद किसी ने भी इस मामले की शिकायत नहीं दर्ज कराई। वहीं पीड़िता की दादी ने पंचायत से कहा कि एक पेपर पर साइन करके दो जब इस फैसले को मानेंगे।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App