ताज़ा खबर
 

बिहार एनडीए में खटपट? बीजेपी के 13 नेताओं ने डीजीपी से पूछा- हिन्दुओं के साथ सख्ती पर मुस्लिमों से नरमी क्यों?

राज्य के मुखिया नीतीश कुमार ने दो दिन पहले ही राज्य में साम्प्रदायिक हिंसा से क्षतिग्रस्त हुए मस्जिद के पुनरोद्धार के लिए सरकारी सहायता का एलान किया था।
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (दाएं) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (File Photo)

करीब साल भर पुराने बिहार एनडीए में खटपट शुरू हो गई है। हाल में हुई साम्प्रदायिक हिंसा के कई मामलों के बाद राज्य की नीतीश सरकार ने जहां आरोपियों के खिलाफ सख्ती दिखाई है, वहीं सरकार की सहयोगी पार्टी बीजेपी के नेताओं ने सरकारी अधिकारियों की कार्रवाई पर सवाल खड़े किए हैं। बीजेपी के 13 नेताओं ने राज्य के डीजीपी के एस द्विवेदी को पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि साम्प्रदायिक दंगों के मामले में कई निर्दोष लोगों को गिरफ्तार किया गया है और भेदभावपूर्ण तरीके से उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है। पत्र में आरोप लगाया गया है कि सरकारी पुलिस तंत्र बहुसंख्यक हिन्दुओं के साथ सख्ती से पेश आ रहा है जबकि अल्पसंख्यकों के साथ हमदर्दी दिखाई जा रही है। बीजेपी नेताओं ने इस मामले की निष्पक्ष जांच की भी मांग की है।

इन नेताओं ने अपनी मांग का पत्र डीजीपी से मिलकर उन्हें सौंपा है। मुलाकात के बाद बीजेपी नेता संजीव चौरसिया ने मीडिया को बताया कि डीजीपी ने मामले में पारदर्शिता बरतने का भरोसा दिया है। चौरसिया ने कहा कि डीजीपी ने भरोसा दिलाया है कि जांच पूरा होने के बाद किसी भी निर्दोष को दंडित नहीं किया जाएगा और जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि रामनवमी के आसपास राज्य के करीब दस जिलों में साम्प्रदायिक हिंसा फैली थी। इनमें से कई जगहों पर आगजनी की भी घटनाएं हुई थीं। समस्तीपुर में दंगों के दौरान उपद्रवियों ने एक मस्जिद को भी नुकसान पहुंचाया था।

राज्य के मुखिया नीतीश कुमार ने दो दिन पहले ही राज्य में साम्प्रदायिक हिंसा से क्षतिग्रस्त हुए मस्जिद के पुनरुद्धार के लिए सरकारी सहायता का एलान किया था। इसके साथ ही उन लोगों को भी मुआवजे का एलान किया था जिनकी दुकानें साम्प्रदायिक दंगों की आग में झुलस गए थे। बीजेपी के कुछ नेताओं ने सीएम के इस कदम की आलोचना की थी और इसे तुष्टिकरण करार दिया था। तभी से माना जा रहा है कि बिहार एनडीए में सबकुछ सामान्य नहीं है। बता दें कि लालू परिवार पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद पिछले साल जुलाई में नीतीश कुमार ने महागठबंधन सरकार से इस्तीफा देकर बीजेपी के साथ मिलकर एनडीए गठबंधन की सरकार बनाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App