RJD ऑफ‍िस में मिलन समारोह: होर्डिंग में लालू, राबड़ी, तेजस्‍वी, पर तेज प्रताप नदारद

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के जेल से बाहर निकलने के बाद परिवार और पार्टी में लंबे अर्से से चल रहा विवाद नित नए रंग ले रहा है। एक तरफ बड़े बेटे तेज प्रताप ने नई विंग बनाने का ऐलान किया तो दूसरी तरफ पोस्टर विवाद फिर से तूल पकड़ रहा है।

LALU YADAV, BIHAR, RJD, TEJ PRATAP YADAV, BIHAR POLITICS
लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के जेल से बाहर निकलने के बाद परिवार और पार्टी में लंबे अर्से से चल रहा विवाद नित नए रंग ले रहा है। एक तरफ बड़े बेटे तेज प्रताप ने नई विंग बनाने का ऐलान किया तो दूसरी तरफ पोस्टर विवाद फिर से तूल पकड़ रहा है। राजद कार्यालय में मिलन समारोह का आयोजन किया गया। इसके लिए पार्टी कार्यालय के बाहर द्वार बनाए गए हैं। लेकिन कहीं भी तेज प्रताप यादव नहीं हैं।

राजद में पोस्टर विवाद थमता दिख रहा था पर अब फिर इसके उभरने की आशंका है। इसके चलते ही छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष आकाश यादव को कुर्सी भी गंवानी पड़ी थी। उनकी गलती केवल ये थी कि छात्र राजद के कार्यक्रम वाले पोस्टर पर तेजस्वी यादव की फोटो नहीं थी। जानकारों का कहना है कि आकाश ने एलजेपी ज्वाइन कर ली है लेकिन उनकी हरकत की वजह से लालू परिवार में दूरियां साफ दिखने लगी हैं।

ये भी पढ़ेंः

सिलेबस से जेपी का नाम हटाने पर बिफरे लालू

सुशील मोदी ने लालू राज को बताया तालिबान जैसा

उधर, लालू के बेटे तेज प्रताप की नाराजगी अभी भी जारी है। सोशल मीडिया पर तेज प्रताप लगातार छोटे भाई तेजस्वी यादव पर तंज कस रहे हैं तो उन्होंने छात्र जनशक्ति परिषद नामक नए संगठन की स्थापना का एलान किया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि जैसे सभी पार्टियों का एक पार्ट होता है, उसी तरह हमने भी राष्ट्रीय जनता दल का एक नया संगठन बनाया है। संगठन शिक्षा, स्वास्थ्य और न्याय के लिए आवाज उठाएगा। तेज प्रताप ने खुद को इसका अध्यक्ष भी घोषित कर दिया।

बताया जा रहा है कि छात्र राजद के प्रदेश अध्यक्ष को हटाकर नया अध्यक्ष बनाने और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर कार्रवाई नहीं होने के चलते तेज प्रताप खफा चल रहे हैं। तेज प्रताप ने कहा कि छात्र जनशक्ति परिषद से वे नए आंदोलन की शुरुआत करने जा रहे हैं। यह आंदोलन बिहार सहित अन्य राज्यों में भी होगा। उन्होंने युवाओं से इस मिशन में जुड़ने की अपील की। संगठन का नया फेसबुक और ट्विटर पेज भी बनेगा। सदस्यता फॉर्म भी तैयार किया जाएगा। यूनिवर्सिटी में कैंप भी लगाए जाएंगे।

हालांकि, राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने तेज प्रताप के नए संगठन पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इसका राजनीतिक मतलब नहीं निकाला जाना चाहिए। उनका कहना है कि संगठन पार्टी को मजबूत बनाने का काम करेगा। छात्र राजद को इससे कोई खतरा नहीं है। वो पहले ही तरह से काम करेगा। तेज प्रताप के पास पहले से ही एक संगठन है। ये धर्म निरपेक्ष सेवक संगठन के नाम से काम कर रहा है।

इससे पहले तेजप्रताप ने फेसबुक पर पोस्ट लिखकर पटना इस्कॉन मंदिर पर बहुत गंभीर आरोप लगाया था। उन्होंने कहा है कि इस मंदिर को बर्बाद किया जा रहा है। यहां महिलाओं का शोषण किया जा रहा है। उनके पास इसके सबूत हैं। उन्होंने आगे कहा कि आठ साल के बच्चे के साथ वहां कांड हुआ है। मेरे पास इसके बारे में पूरा सबूत है। इसे मैं लोगों के सामने लाऊंगा। पापियों का सबूत मैं लोगों के सामने जल्द लाऊंगा।

पढें बिहार समाचार (Bihar News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।