ताज़ा खबर
 

लालू बोले- मोदी जी अब तो अडानी, अंबानी की चिंता छोड़ गरीबों-नौजवानों की तरफ देखिए

देश की 18 राजनीतिक पार्टियों ने आपस में मिलकर 8 नवंबर को काला दिवस मनाने और जिलों में रैलियां आयोजित करने का निर्णय लिया है।

पटना में पत्रकारों को संबोधित करते लालू यादव और तेजस्वी यादव (फोटो-पीटीआई )

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने शुक्रवार (27 अक्टूबर) को कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। उन्होंने कहा कि आठ नवंबर को राज्य के सभी जिलों में नोटबंदी की पहली वर्षगांठ पर राजद रैलियां आयोजित करेगा और ‘काला दिवस’ मनाकर नोटबंदी और जीएसटी का विरोध करेगा। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने छठ पर्व की समाप्ति के बाद राजद के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं, राजद के जिला अध्यक्ष, सभी प्रकोष्ठों के अधिकारी, कार्यकर्ताओं को निर्देश दिया है कि वे अभी से ही आठ नवंबर को आयोजित की जाने वाली जिलावार रैलियों की तैयारी में लग जाएं।

उन्होंने बताया कि देश की 18 राजनीतिक पार्टियों ने आपस में मिलकर आठ नवंबर को काला दिवस मनाने और जिलों में रैलियां आयोजित करने का निर्णय लिया है। उन्होंने राजद कार्यकर्ताओं से घर-घर जाकर लोगों को नोटबंदी और जीएसटी के दुष्प्रभाव से अवगत कराने की अपील की है।

लालू प्रसाद ने एक बयान जारी कर कहा, “नोटबंदी का आदेश देश के लिए काला कानून था। केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने नोटबंदी कर लोगों को गुमराह किया। बताया गया कि इससे गरीबों का भला होगा और अमीरों का काला धन बाहर निकलेगा। मगर वास्तव में क्या हुआ, यह सबको पता है। गरीब, मजदूर, किसान, संगठित-असंगठित कामगार, छात्र, नौजवान यहां तक कि घरेलू महिलाओं को इस तुगलकी फरमान से यातना झेलनी पड़ी।”

उन्होंने कहा कि नोटबंदी से सैकड़ों कल-कारखाने बंद हो गए। हजारों हजार कामगार बेरोजगार हो गए। देश का घरेलू सकल उत्पाद का औसत लगातार गिरता जा रहा है। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नसीहत देते हुए कहा, “आपने बहुत छलावा किया, अब तो अडानी, अंबानी की चिंता छोड़कर देश के गरीबों और नौजवानों की तरफ देखिए।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App