RJD के जगदानंद सिंह ने RSS को बताया अंग्रेजों का दलाल, पहले भी तालिबान से कर चुके हैं संघ की तुलना, पूछा- बिहार सबसे भूखा राज्य क्यों?

जगदानंद सिंह ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि, अंग्रेजों के दलाल किसानों को किसान नहीं मानते हैं। ये लोग किसानों को खालिस्तानी और पाकिस्तानी कहते हैं।

rjd bihar chief jagdanand singh
बिहार राजद प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह (@JagdanandSingh2)

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ को अंग्रेजों का दलाल बताया है। उन्होंने आरएसएस पर तंज कसते हुए कहा कि, हमें वो लोग किसान नहीं मान रहे हैं जो लोग अंग्रेजों के दलाल थे, जो गांधी की हत्या करते हैं। वो किसानों को खालिस्तानी और पाकिस्तानी कहते हैं। मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा, ‘अंग्रेजों के दलाल किसानों को किसान नहीं मानते हैं।’ सिंह ने यह बातें सोमवार को संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा बुलाए गए भारत बंद में हिस्सा लेने के दौरान कहीं। आरजेडी ने इस बंद को अपना समर्थन दिया था।

गांधीजी को याद करते उन्होंने कहा कि बापू मानते थे, भारत गांवों का देश है। जब गांव आगे नहीं जाएंगे तब तक देश का पूरा विकास नहीं होगा। उन्होंने सवाल किया कि, आखिर क्यों आज दुनिया का सबसे भूखा राष्ट्र भारत है और सबसे भूखा राज्य बिहार।” जगदानंद सिंह पहले भी आरएसएस को भारत का तालिबान कह चुके हैं।

भारत का तालिबान: जगदानंद सिंह ने कहा था, अफगानिस्तान में तालिबान एक संस्कृति है, वैसे ही भारत में आरएसएस ही तालिबान है। इस संगठन के लोग हमेशा दाढ़ी वालों को, चूड़ी बेचने वालों को और अल्पसंख्यकों को मारते हैं। उन्होंने कहा कि लालू प्रसाद यादव एकता की बात करते हैं, इसके लिए वो जेल भी गए। उन्होंने हमेशा धार्मिक उन्मादियों को रोकने का काम किया।

आरएसएस पर सवाल: जगदानंद ने कहा, आखिर धार्मिक उन्मादी तालिबान की चर्चा इस देश में क्यों हो रही है। अगर तालिबानी संगठन धार्मिक उन्मादी हैं, तो फिर RSS भी धार्मिक उन्मादी है। तालिबानी चरित्र है कि वो लोग किसी को बर्दाश्त नहीं करते हैं, यही हाल RSS का भी है। ये लोग चूड़ी बेचने वाले को क्यों रोकते हैं? कोरोना काल के दौरान मस्जिद से पकड़े गए विदेशी की दाढ़ी क्यों काटी गई। इन्होंने तालिबान की तरह इंसान की इंसानियत को खतरे में डाल दिया है।

पढें बिहार समाचार (Bihar News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट