ताज़ा खबर
 

रामनवमी पर शोभायात्रा के दौरान मंच पर ही सीएम नीतीश कुमार से भिड़ गए केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह, गवर्नर देखकर मुस्कुराते रहे

बिहार के नवादा जिले में गुरुवार को रामनवमी का पोस्टर फाड़े जाने के विवाद पर दो समुदायों में हिंसक झड़प हो गई थी।

मंच पर सीएम नीतीश कुमार और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बीच बहस होते हुए। साथ में गवर्नर भी मौजूद हैं। (स्क्रीनशॉट)

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बीच राजनीतिक रिश्ते की तल्खी वर्षों पुरानी है। इस बार दोनों नेता एक कार्यक्रम में आमने-सामने हुए तो दोनों के बीच की तल्खी सतह पर आ गई। दरअसल, रामनवमी के मौके पर निकाली गई शोभायात्रा के दौरान मंच पर दोनों नेताओं के बीच बहस हो गई। जिस समय इन दोनों नेताओं के बीच बहस हो रही थी उस वक्त मंच पर गवर्नर रामनाथ कोविंद, साध्वी ऋतंभरा, शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी मौजूद थे। सभी नेता इन दोनों के बीच हो रहे बहस को सुनकर मुस्कुरा रहे थे। इससे जाहिर होता है कि बहस हल्के-फुल्के अंदाज में हो रहा था।

गौरतलब है कि साध्वी ऋतंभरा भी इस मंच पर मौजूद थीं जिनका स्वागत करने के लिए गिरिराज सिंह मंच पर पहुंचे थे लेकिन रामनवमी के मौके पर नवादा में भड़की हिंसा पर उन्होंने मुख्यमंत्री से सवाल दाग दिया। जिस वक्त ये सब कुछ हुआ, उस वक्त वहां काफी शोर था, इस वजह से दोनों नेताओं के बीच की बातचीत साफ-साफ नहीं सुनाई दी।

आपको बता दें कि बिहार के नवादा जिले में गुरुवार को रामनवमी का पोस्टर फाड़े जाने के विवाद पर दो समुदायों में हिंसक झड़प हो गई थी। जिला मुख्यालय के सद्भावना चौक पर रामनवमी का पोस्टर फाड़ने के विवाद में पहले तो दो समुदाय के लोग आपस में भिड़ गए इसके बाद दोनों तरफ से मारपीट हुई और रोड़ेबाजी शुरू हो गई। असामाजिक तत्वों ने मौका पाते ही कुछ दुकानों में आग लगा दी और कई गाड़ियों के शीशे तोड़ दिए। इससे नाराज लोगों ने राष्ट्रीय उच्च पथ (एनएच) 31 पर जाम लगा दिया। हालात देखते हुए वहां के सांसद और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह को मौके पर पहुंचना पड़ा था। गिरिराज सिंह ने जिला प्रशासन पर सुरक्षा में लापरवाही का आरोप लगाया है।

गिरिराज सिंह ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार की सरकार में बिहार में मंदिरों पर रोज हमले हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुशासन में हिन्दू प्रताड़ित हो रहे हैं। नवादा में दो समुदायों के बीच रामनवमी का झंडा फाड़े जाने के बाद हुए हिंसक झड़प के बाद वहां पहुंचे गिरिराज सिंह ने कहा कि अगर मुर्हरम का जुलूस निकलता है तो रामनवमी का जुलूस क्यों नहीं निकल सकता? भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री ने शहर में हुई हिंसक झड़प और तनाव के लिए सीधे तौर पर जिला प्रशासन और राज्य सरकार को दोषी ठहराया है। उन्होंने कहा कि रामनवमी पर जुलूस को सुरक्षा देना प्रशासन का काम है। उन्होंने मांग की कि प्रशासन उन्हें सुरक्षा मुहैया कराए।

वीडियो: संजय लीला भंसाली पर हुए हमले पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा-“इतिहास के साथ छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App