For the first time on the Hindi novel in Patna Book Fair Agreement of Rs 2 crore - पहली बार पटना पुस्तक मेला में हिंदी उपन्यास पर हुई 2 करोड़ रुपये की एग्रीमेंट - Jansatta
ताज़ा खबर
 

पहली बार पटना पुस्तक मेला में हिंदी उपन्यास पर हुई 2 करोड़ रुपये की एग्रीमेंट

पटना में आयोजित 23वें पुस्तक मेला में पहली बार हिंदी उपन्यास पर पौने दो करोड़ का एग्रीमेंट किया गया है।

हिंदी साहित्यकार रत्नेश्वर सिंह ने अपने उपन्यास ‘रेखना मेरी जान’ पर 2 करोड़ का एग्रीमेंट किया।

पटना में आयोजित 23वें पुस्तक मेला में पहली बार हिंदी उपन्यास पर पौने दो करोड़ का एग्रीमेंट किया गया है। यह एग्रीमेंट रत्नेश्वर कुमार सिंह के उपन्यास ‘रेखना मेरी जान’ के लिए किया गया है। यह उपन्यास अंग्रेजी और हिंदी दोनों भाषा में उपलब्ध होगा। इस उपन्यास को नोवेल्टी एंड कंपनी प्रकाशित करेगा। इस बात की जानकारी पुस्तक मेला में खुद रत्नेश्वर कुमार सिंह ने दी। उन्होंने कहा कि नोवेल्टी प्लेटिनम योजना के तहत प्रकाशित होनेवाले इस उपन्यास की दस लाख प्रतियों को बेचने का लक्ष्य है। यह उपन्यास 5 अप्रैल, 2017 को बाजार में ऑनलाइन उपलब्ध होगा। इसकी एडवांस बुकिंग 3 अप्रैल से शुरू हो जाएगी। इसके लिए रत्नेश्वर कुमार सिंह को एक करोड़ 75,00,000 रुपये में अनुबंधित किया गया है, जो किसी भी भारतीय प्रकाशक द्वारा किसी लेखक की एक किताब के लिए सबसे बड़ा करार है। बता दें, इस करार के लिए साइनिंग अमाउंट ढाई लाख रुपये दिए गए हैं। खास बात ये है कि साइनिंग अमाउंट करार राशि से अलग है।

गौरतलब है कि ताराकांत झा द्वारा स्थापित 1945 में नोवेल्टी एंड कंपनी 2020 में अपना 75 साल पूरा करने जा रही है। 75वें साल को ध्यान में रख कर इस फाल्गुन में एक नया प्रकाशन संस्थान, ब्लूवर्ड के नाम से शुरु किया जा रहा है, जिसमें नोवेल्टी प्लेटिनम नाम से विशेष साहित्य सीरीज की शुरुआत की जा रही है। कार्यक्रम में रत्नेश्वर सिंह ने कहा कि विश्व अंतर्गत विश्वस्तरीय साहित्यिक पुस्तकें के प्रकाशन की योजना है। इसके अंतर्गत ऐसी साहित्य किताबें छापने की योजना है, जो विश्व क्लासिक की श्रेणी में आती है या भविष्य में आने वाली है।

रत्नेश्वर का ताजा उपन्यास ग्लोबल वार्मिंग से जूझते समाज की आधार कथा के साथ एक अद्भभुत प्रेम कहानी है। वर्तमान में ग्लोबल वार्मिंग विश्व के लिए एक ज्वलंत मुद्दा है और प्रेम तो हमेशा से एक सर्वश्रेष्ठ विषय है। मुझे विश्वास है कि इस उपन्यास को पूरी दुनिया में पसंद किया जाएगा। इसके बाद वरिष्ठ पत्रकार अमित झा ने कहा कि रत्नेश्वर एक बहुत ही अच्छे सेलर लेखक हैं और इनकी चर्चा विश्व स्तर पर हो रही है। इस समय ब्लूवर्ड नोवेल्टी एंड कंपनी का ऑफिस पटना और बंगलुरु में है।

देखिए वीडियो - बिहार शराबबंदी: पटना हाईकोर्ट ने सरकार के प्रतिबंध के कानून को ‘गैरकानूनी’ बताकर रद्द किया

ये वीडियो भी देखिए - पटना: गुरु गोबिंद सिंह के 350वें प्रकाश पर्व के उत्सव में शामिल हुए पीएम मोदी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App