ताज़ा खबर
 

जदयू से टिकट नहीं मिला तो राजद कोटे से बने थे केंद्रीय मंत्री, फिर लालू के बेटों को ‘गिफ्ट’ कर दिया अपना आलीशान मकान

रघुनाथ झा 1999 से लेकर 2004 तक गोपालगंज से जनता दल के सांसद थे लेकिन साल 2004 में जदयू ने उन्हें दोबारा टिकट देने से इनकार कर दिया था।

Author Updated: April 25, 2017 7:41 PM
राजद के एक कार्यक्रम में लालू यादव और अन्य नेताओं के साथ रघुनाथ झा। (फाइल फोटो)

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पर विपक्ष लगातार हमले कर रहा है। पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी अवैध संपत्ति को लेकर दिन-ब-दिन कोई न कोई आरोप लालू यादव पर लगा रहे हैं। इस बीच एक और जमीन और मकान को लेकर सियासी जगत में चर्चा तेज है। आरोप है कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री रघुनाथ झा ने साल 2004 के लोकसभा चुनाव में राजद से टिकट पाने के लिए गोपालगंज स्थित अपना आलीशान मकान और उसकी जमीन लालू यादव के दोनों बेटों तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव के नाम लिख दिया। जिस वक्त ये जमीन और मकान रजिस्ट्री की गई है, उस वक्त ये दोनों नाबालिग थे।

ईनाडू इंडिया के मुताबिक गोपालगंज में एनएच 28 के किनारे हजियापुर वार्ड नंबर 16 में मौजूदा समय में लालू यादव का बंगला है। यह बंगला कभी गोपालगंज के तत्कालीन सांसद रघुनाथ झा ने बड़े ही शौक से बनवाया था लेकिन बाद में उन्होंने इसे लालू परिवार को गिफ्ट में दे दिया था। तब ऐसी चर्चा छिड़ी थी कि बेतिया से लोकसभा का टिकट पाने के लिए ही रघुनाथ झा ने बंगले को लालू परिवार के नाम कर दिया है।

रघुनाथ झा द्वारा किए गए गिफ्ट डीड के कागजात। (फोटो सोर्स- ईनाडु इंडिया)

दरअसल, रघुनाथ झा 1999 से लेकर 2004 तक गोपालगंज से जनता दल के सांसद थे लेकिन साल 2004 में जदयू ने उन्हें दोबारा टिकट देने से इनकार कर दिया। तब झा ने राजद के टिकट पर बेतिया से लोकसभा का चुनाव जीता था और लालू यादव की पसंद पर केन्द्र की मनमोहन सिंह सरकार में मंत्री भी बनाए गए थे। इसके बाद साल 2005 में रघुनाथ झा ने इस मकान को लालू यादव के दोनों बेटों के नाम कर दिया। चूंकि दोनों बेटे उस वक्त नाबालिग थे, इसलिए उनकी मां राबड़ी देवी को उनका कानूनी और प्राकृतिक अभिभावक बनाया गया था। उस वक्त राबड़ी देवी राज्य की मुख्यमंत्री थीं।

ईनाडु इंडिया के मुताबिक, आरोप है कि रजिस्ट्री कराने में भी पद का दुरुपयोग किया गया है। रजिस्ट्री शुल्क कम करने के लिए जमीन और मकान के दो डीड बनवाए गए थे। एक डीड में आधे जमीन की कीमत 6 लाख 50 हजार रुपये बताई गई थी जबकि 500 वर्ग फीट में बने बंगले के लिए दूसरी डीड बनी थी जिसकी कीमत करीब 11 लाख रुपये बताई गई थी। हालांकि पूर्व विधायक और राजद के जिलाध्यक्ष रियाजुल हक इस तरह के किसी भी आरोप से इनकार करते हैं।

वीडियो: प्रधानमंत्री मोदी पर लालू प्रसाद यादव बोले- “पीएम को अपनी बेगुनाही साबित करनी चाहिए”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 दूल्हे ने शादी के कार्ड में छपवाया ‘बिन शौचालय दुल्हन का श्रृंगार है अधूरा’
2 सुकमा में शहीद जवान के पिता ने कहा- अगर अमेरिका पाकिस्तान में घुसकर ओसामा को मार सकता है तो मोदी सरकार कुछ क्यों नहीं करती?
3 आईटी अफसरों की ‘सर्जिकल स्‍ट्राइक’: 80 गाड़ियों में 7 जिलों से पहुंचे 150 अफसर, 4 दि‍न चली रेड,200 करोड़ का कालाधन सामने आने का अनुमान