ताज़ा खबर
 

किसी बाबा की सलाह पर तलाक ले रहे तेज प्रताप? वृंदावन से लौटे और डाल दी अर्जी

बताया जा रहा है कि वृंदावन में ही तेजप्रताप को उनके किसी धर्मगुरु ने यह सलाह दी है कि पत्नी का उनके जीवन में आगमन उनके लिए फलदायी नहीं है। लालू प्रसाद यादव के परिवार में बढ़ती कलह के पीछे भी धर्मगुरु ने तेज प्रताप की नई पत्नी को ही जिम्मेदार ठहराया।

वृंदावन में तेज प्रताप यादव। फोटो- इंस्‍टाग्राम

बिहार के दो बड़े राजनीतिक घराने से संबंध रखने वाले तेजप्रताप और ऐश्वर्या राय अब अलगाव की राह पर हैं। तेज प्रताप ने अपनी पत्नी से तलाक की अर्जी पटना के फैमिली कोर्ट में दाखिल कर दी है। इस शादी को सिर्फ छह महीने ही हुए ​थे। इस हाई प्रोफाइल शादी की गूंज पूरे देश में सुनी गई थी। लेकिन इस अलगाव के पीछे कई कारण बताए जा रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक, लालू प्रसाद के बड़े बेटे और बिहार के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तेज प्रताप यादव दो दिन पहले वृंदावन में थे। वृंदावन के बिहार वन में तेजप्रताप ने गायें चराते हुए अपनी तस्वीरें सोशल मीडिया पर डाली थीं। बताया जा रहा है कि तेजप्रताप मानसिक शांति पाने के लिए ही वृंदावन में गए थे। वह खुद भी कई मौकों पर ये स्वीकार करते रहे हैं कि भगवान कृष्ण उनके आराध्य हैं और उनकी सेवा से उन्हें शांति मिलती है।

बताया जा रहा है कि वृंदावन में ही तेजप्रताप को उनके किसी धर्मगुरु ने यह सलाह दी है कि पत्नी का उनके जीवन में आगमन उनके लिए फलदायी नहीं है। लालू प्रसाद यादव के परिवार में बढ़ती कलह के पीछे भी धर्मगुरु ने तेज प्रताप की नई पत्नी को ही जिम्मेदार ठहराया। बताया जा रहा है कि तेजप्रताप ने धर्मगुरु के कहने पर परिवार की कलह का जिम्मेदार अपनी पत्नी को ही मान लिया। वृंदावन से लौटते ही उन्होंने तलाक की अर्जी पटना के फैमिली कोर्ट में दायर कर दी।

तेज प्रताप ने शादी के छह महीने बाद ही तलाक की अर्जी दे दी है। पटना के फैमिली कोर्ट में उन्‍होंने यह अर्जी दायर की है। ऐश्‍वर्या राजद विधायक चंद्रिका राय की बेटी हैं। तेज प्रताप अपनी शादी को लेकर उत्‍साहित थे, लेकिन अब बताया जाता है कि तेजप्रताप परिवार की सुखशांति के लिए अपने वैवाहिक जीवन की कुर्बानी देना चाहते हैं। तेज प्रताप की ओर से दायर केस नंबर 1208/2018 है। वह 2 नवंबर की शाम पिता लालू प्रसाद यादव से मिलने रांची निकल गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App