ताज़ा खबर
 

झोला छाप डॉक्टर ने रेप कर खुद बुलाई पंचायत, महिला पर ही मढ़ दिया मजबूर करने का आरोप

थानाध्यक्ष सुनील कुमार के मुताबिक पीड़ित महिला को मेडिकल टेस्ट के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। इधर, प्राथमिकी दर्ज होते ही आरोपी डॉक्टर गांव छोड़कर भाग खड़ा हुआ है

संबंध बनाने का दबाव डालने पर पत्नी ने मारी पति को लात। (Representative Image)

समाज में डॉक्टरी पेशे को बड़ी इज्जत के साथ देखा जाता है। लोग डॉक्टर की इज्जत भी करते हैं। यहां तक कि उन्हें धरती पर दूसरा भगवान कहा जाता है। ग्रामीण इलाकों में ये हैसियत कमोबेश कम्पाउंडरों या आरएमपी को भी हासिल है, जिन्हें पढ़े लिखे समाज में अक्सर झोलाछाप डॉक्टर कहा जाता है। गांवों में घूम-घूमकर इलाज करने वाले ऐसे लोगों पर भरोसा इतना होता है कि बेफिक्र होकर लोग घर की बहू-बेटियों का इलाज इनसे कराते हैं लेकिन कभी-कभी इनमें से कुछ लोग न केवल पेशे को बल्कि इंसानियत को भी शर्मसार कर देते हैं। ऐसा ही कुछ वाकया सामने आया है बिहार के मधेपुरा जिले में, जहां एक नवविवाहिता का इलाज करने गए डॉक्टर ने न सिर्फ उससे बलात्कार किया बल्कि उसे बीच पंचायत में बदनाम भी कर दिया।

दरअसल, ये मामला मधेपुरा के आलमनगर थाना क्षेत्र का है, जहां के एक गांव में एक नवविवाहिता के पीठ में दर्द उठा। वो दर्द से परेशान थी इसलिए घरवालों ने गांव के ही झोलाछाप डॉक्टर को तत्काल इलाज के लिए बुलाया। इसके बाद डॉक्टर देर शाम मरीज के पास पहुंचा। उसने कुछ पूछताछ की उसके बाद नवविवाहिता का शरीर छूने लगा। महिला ने डॉक्टर की नियत को भांपते हुए जब इसका विरोध किया तो डॉक्टर ने उसके मुंह में कपड़ा ठूंस दिया और उससे जबर्दस्ती करने लगा। जब महिला डॉक्टर के अत्याचार से चिल्लाने लगी तो घर में सोए बुजुर्ग ससुर की नींद खुल गई। ससुर अपनी बहू के साथ हो रहे कुकर्म को देखकर आवाक रह गया।

महिला के चिल्लाने की वजह से अगल-बगल के लोग भी वहां इकट्ठा हो गए। इसे देखकर डॉक्टर घर के पीछे से भागने की कोशिश करने लगा लेकिन वहां मौजूद लोगों ने उसे दबोच लिया और आरोपी डॉक्टर की जमकर पिटाई कर दी। डॉक्टर की निर्लज्जता यहीं नहीं रुकी। उसने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर अगले दिन गांव की पंचायत बुलाई और भरी पंचायत में उसने उल्टे जबरन संबंध बनाने का आरोप नवविवाहिता पर मढ़ दिया। नपीड़ित महिला और उसके ससुर ने डॉक्टर के आरोपों का विरोध किया तो पंचायत ने भी डॉक्टर का साथ दिया और सुलह-समझौते की पेशकश कर डाली। लेकिन पीड़ित महिला ने सुलह न कर मामले को थाने में पहुंचा दिया है।

आलमनगर थाने में महिला की शिकायत पर डॉक्टर के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। थानाध्यक्ष सुनील कुमार के मुताबिक पीड़ित महिला को मेडिकल टेस्ट के लिए सदर अस्पताल भेजा गया है। इधर, प्राथमिकी दर्ज होते ही आरोपी डॉक्टर गांव छोड़कर भाग खड़ा हुआ है और पुलिस उसकी धर-पकड़ के लिए हाथ पैर मार रही है। पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है। वहीं कुछ लोगों का कहना है कि गांव के बड़े-बुजुर्गों का लंबे समय से इलाज करने की वजह से डॉक्टर ने गांव में अपनी पकड़ बना रखी है और इसी वजह से उसने पंचायत पर दबाव बनाकर अपने हित में पीड़िता से सुलह कराने को कहा था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 1989 में बड़ा दंगा झेल चुके भागलपुर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए उधर बनी कंपनी, इधर बूचड़खाना खोलने की तैयारी
2 नीतीश कुमार के शासन में एक और डिग्री घोटाला, एमफिल के नाम पर 3000 छात्रों से ठग लिए 9 करोड़ रुपये
3 नीतीश कुमार के राज में बदमाशों ने भाजपा विधायक से मांगी रंगदारी, नहीं दी तो दिनदहाड़े उन्हीं पर कर दी फायरिंग
ये पढ़ा क्या?
X