ताज़ा खबर
 

मुजफ्फरपुर शेल्‍टर होम केस: सीबीआई बोली- लड़कियों को शारीरिक संबंध बनाना सिखाने वाली मधु वर्मा गिरफ्तार

मुजफ्फरपुर के बालिका गृह दुष्कर्म कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की करीबी और राजदार मानी जाने वाल मधु मंगलवार (20 नवंबर, 2018) को सीबीआई के सामने पेश हुई। पेश होने के बाद सीबीआई ने मधु को गिरफ्तार कर लिया।

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम कांड का मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर, 8 अगस्त को पोक्सो कोर्ट ले जाते वक्त एक महिला ने उसके चेहरे पर स्याही फेंक दी थी। (फोटो- पीटीआई)

बिहार के मुजफ्फरपुर के बालिका गृह दुष्कर्म कांड के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर की करीबी और राजदार मानी जाने वाली मधु मंगलवार (20 नवंबर, 2018) को सीबीआई के सामने पेश हुई। पेश होने के बाद सीबीआई ने मधु को गिरफ्तार कर लिया। सीबीआई के अधिकारियों ने मीडिया से कहा कि जांच के दौरान उन्होंने पाया कि मधु बच्चों को शारीरिक संबंध बनाना सिखाती थी। सीबीआई ने ये भी कहा कि मधु की गिरफ्तारी बड़ी सफलता है।

वहीं मधु ने सीबीआई के सामने पेश होने से पहले कहा कि वह बालिका गृह में चल रही गतिविधियों के बारे में नहीं जानती थी। उसने कहा कि न तो वह आरोपी है और न ही उसके खिलाफ कोई वारंट जारी हुआ है। मधु ने कहा कि उसने सीबीआई के अधिकारियों से मिलने का फैसला इसलिए किया क्योंकि सीबीआई के अधिकारियों ने कई बार उसके घर का दरवाजा खटखटाया है, जिसकी वजह से उसके परिवार के सदस्यों को असुविधा हो रही है। मधु ने अपना चेहरा ढककर रिपोर्टरों से बात की। मधु ने कहा,”मेरे पास डरने के लिए कुछ नहीं है क्योंकि मैं जांच के घेरे में आए बालिका गृह में काम नहीं करती थी। मैं ठाकुर के लिए काम करती थी लेकिन मुझे कोई जानकारी नहीं है कि वहां क्या हुआ?

सीबीआई के अधिकारी जिला कोर्ट परिसर में बने अपने कैंप कार्यालय में मधु को लेकर चले गए। मधु अपने वकीलों के साथ आई थी। मधु ने सीबीआई ​कार्यालय में जाने से पहले कहा,”मैं सीबीआई को अपना पूरा समर्थन देने के लिए तैयार हूं क्योंकि मेरे पास छिपाने के लिए कुछ नहीं है। मैं नहीं कह सकती लेकिन हो सकता है कि ठाकुर गैरकानूनी ​गतिविधियों में शामिल हो। यद्यपि मैं उसके अखबारों के मामलों को देखती थी। लेकिन मैं उन रिपोर्ट से इंकार करती हूं जिनमें ये कहा गया था कि मैं मंत्रियों और अन्य वीआईपी लोगों को ठाकुर के कारोबार को प्रोत्साहित करने के लिए संबंध बनाती थी।”

उन रिपोर्टों के बारे में पूछने पर जिनमें मधु के नेपाल में छिपे होने की बात कही गई थी, मधु ने हंसते हुए जवाब दिया कि वह बिहार में ही थी, नेपाल में नहीं। मधु ने कहा,”मेरे पास छिपने का कोई कारण नहीं था। मेरे सीबीआई के सामने आने का कारण सिर्फ यही है कि अधिकारी लगातार मेरे घर आ रहे थे और इससे मेरे घर वालों को परेशानी हो रही थी।

बता दें कि मधु को पहले शाइश्ता नाम से भी जाना जाता था। वह कस्बे के कुख्यात और बदनाम रेड लाइट एरिया चतुर्भुज स्थान की रहने वाली है। वह कुछ सालों पहले ही ब्रजेश ठाकुर के संपर्क में आई थी। ये कुछ साल पहले उस वक्त हुआ था जब जिस्मफरोशी के चंगुल में फंसी लड़कियों का पुनर्वास करके उन्हें बालिका गृह में लाया जाता था। कई मीडिया रिपोर्टों में दावा किया गया है कि वह ब्रजेश ठाकुर के सभी एनजीओ का कामकाज भी संभालती थी। इसमें सेवा संकल्प एवं विकास समिति भी शामिल था। यही समिति वो कुख्यात बालिका गृह चलाती थी, जिसमें मासूम बच्चियों के साथ अत्याचार किया गया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार: मां से रेप की कोशिश का किया विरोध, नाबालिग बेटे को पीट कर मार डाला
2 VIDEO: तेजप्रताप कहां हैं? राबड़ी देवी बोलीं- बेटा है, घर जा आएगा, सरकार मंजू वर्मा को ढूंढे
3 सर्वे: पीएम मोदी के काम से 33 फीसदी बिहारी नाखुश, नीतीश 48 फीसदी की पसंद