Bihar: Two years of Liquor Ban, Bihar Police ASI consuming liquor in Buxar Police Line - बिहार: फोन कॉल पर हाजिर हो जाती है बोतल, वायरल हो रहा पुलिस लाइन में शराब पीते जमादार का वीडियो - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बिहार: फोन कॉल पर हाजिर हो जाती है बोतल, वायरल हो रहा पुलिस लाइन में शराब पीते जमादार का वीडियो

बिहार में शराबबंदी के दो साल: दो साल में 92 हजार लोगों को जेल, 32 पुलिसकर्मी बर्खास्त, पर जारी है अवैध कारोबार

बिहार में नीतीश सरकार ने शराबबंदी लागू की हुई है। (PTI Photo)

पंकज श्रीवास्तव

देशभर में सबसे सख्त शराबबंदी कानून अगर किसी राज्य में लागू है तो वो है बिहार। यहां शराबबंदी के 2 साल पूरे हो गए हैं। 5 अप्रैल, 2016 को राज्य में पूर्ण शराबबंदी को लागू करने वाला एक सख्त कानून लागू हुआ था। इस कानून के प्रभाव में आने के बाद पिछले दो साल में 62 हजार 123 मुकदमा दर्ज किये गये। शराब पीने, तस्करी और बेचने के आरोप में 92 हजार 111 लोगों को अब तक जेल भेजा जा चुका है और 10 लाख लीटर से ज्यादा शराब जब्त की जा चुकी है। हालांकि, कुछ मालखाने से गायब हो गये तो कुछ को चूहे पी गये। हालांकि, नीतीश समर्थक इसे बड़ी उपलब्धि बताते हैं पर जमीनी हकीकत कुछ और ही है।

पूर्ण बंदी के बावजूद सूबे में शराब आमलोगों को महज एक फोन कॉल पर घर बैठे उपलब्ध हो रहा है। बंदी के शुरुआती छः महीनों को छोड दें तो ये अवैध धंधा कम समय में सबसे ज्यादा फायदा देने वाला धंधा साबित हुआ है। इसके पीछे खाकी, खादी और माफिया का गठजोड़ है। इस बात को सीएम नीतीश कुमार भी स्वीकार कर चुके हैं। पिछले साल महागठबंधन कार्यकर्ताओ के साथ लोक संवाद कार्यक्रम के तहत उन्होंने ये बात कही थी। फिर भी खाकी के भरोसे ही सूबे में पूर्ण शराबबन्दी का लक्ष्य निर्धारित है।

हैरत की बात ये है कि राज्य में कभी खाकीधारी खुद शराब पीते पकड़ा जाता है तो कभी खादीवालों के लिए शराब की तस्करी करते। शराबबंदी की राह में एक और बड़ी परेशानी है। शराबबंदी को सफल बनाने में जुटा राज्य सरकार का उत्पाद विभाग और पुलिस विभाग अक्सर आपस में ही उलझ पड़ता है। 30 अगस्त को नालंदा में जदयू से संबंधित नेता के घर से शराब की बोतलें बरामद की गई। इस मामले में पुलिस ने आरोपी को जेल भेजने की जगह उत्पाद निरीक्षक को ही गिरफ्तार कर लिया था।

आंकड़े पर ध्यान दें तो अब तक शराबबंदी मुहिम में कोताही बरतने के आरोप में 361 पुलिसकर्मी को दोषी पाए गए हैं। इनमें से 32 बर्खास्त हुए तो 169 सस्पेंड। 132 के खिलाफ विभागीय कार्रवाई हुई। इसके अलावा 63 पुलिसकर्मियों का तबादला भी किया गया। बावजूद इसके कोई खास असर नहीं हुआ। इन दिनों सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक पुलिसकर्मी के एक हाथ में शराब से लबालब गिलास है और दूसरे हाथ से वह खाना खा रहा है। यह वीडियो बक्सर जिले के पुलिस लाइन की है और वीडियो में जो शख्स दिख रहा है उसका नाम राजकुमार साह हैष राजकुमार जमादार पद पर तैनात है। यह वायरल वीडियो पुलिस लाइन के एक सिपाही द्वारा ही बनाया गया है। उसका नाम मदनपाल बताया जा रहा है। उसने बक्सर एसपी, डीआईजी तक को ये वीडियो भेजा है लेकिन उसकी शिकायत पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है। इधर एसपी बक्सर का कहना है कि एक फोटो भेजकर इस बाबत शिकायत की गई थी। इसकी जांच की जा रही है। अगर वीडियो मिलेगा तो कार्रवाई करेंगे।

देखिए वीडियो: पुलिस लाइन में शराब पीता जमादार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App