सीवान में मुखिया प्रत्याशी की जबरदस्त पिटाई का VIDEO वायरल, खटिया पर ही पुलिसकर्मी बरसाने लगे डंडे, जेल जाने के बाद बिगड़ी तबीयत

दरअसल 8 अक्टूबर को मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा बूथ संख्या 173 शेखपुरवा में अपने प्रतिद्वंदी प्रत्याशी प्रभुनाथ यादव द्वारा वोगस वोट डलवाने की खबर पर मतदान कैंसिल करवाने बूथ पर पहुंचे थे।

Siwan Anoop Mishra, Bihar Police
सीवान पंचायत चुनाव में मुखिया प्रत्याशी अनूप मिश्रा की पिटाई करते पुलिसकर्मी(फोटो सोर्स: ट्विटर/ वीडियो ग्रैब)।

बिहार के सीवान में हो रहे पंचायत चुनाव के तीसरे चरण में पुलिसकर्मियों द्वारा एक मुखिया प्रत्याशी की पिटाई का वीडियो सामने आया है। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इस वीडियो में कुछ पुलिसकर्मी प्रधान प्रत्याशी अनूप मिश्रा को जमकर पीट रहे हैं। पिटाई के बाद उन्हें गिरफ्तार कर जेल भी भेज दिया गया। जहां उनकी तबीयत खराब होने के बाद लोगों के बीच पुलिस के प्रति आक्रोश है।

वोगस वोट की थी शिकायत: बता दें कि यह मामला पकड़ी पंचायत का है। जहां 8 अक्टूबर को बूथ संख्या 173 शेखपुरवा में अपने प्रतिद्वंदी प्रभुनाथ यादव द्वारा वोगस वोट डलवाने की खबर पर अनूप मिश्रा बूथ पर पहुंचे थे। उन्होंने अन्य प्रत्याशियों के साथ प्रोजाइडिंग ऑफिसर से मतदान कैंसिल कराने की बात की। आरोप के मुताबिक उन्होंने अधिकारी से बूथ पर मतदान रद्द कराने के लिए फॉर्म मांगा लेकिन उन्हें फॉर्म नहीं दिया गया।

इस संबंध में उन्होंने उच्च अधिकारियों को फोन किया लेकिन उनकी बात नहीं हो पाई। जिसके बाद वो मतदान स्थल से करीब डेढ़ सौ मीटर की दूरी पर स्थित एक घर के बाहर जाकर लेट गए। बाद में जिला योजना पदाधिकारी राजीव कुमार कुछ पुलिसकर्मियों के साथ उनके पास पहुंचे और उनपर लाठीचार्ज कर दिया। इसका एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें दिख रहा है कि लेटे हुए अनूप मुखिया प्रत्याशी पर कुछ पुलिसकर्मी लाठियां बरसा रहे हैं।

थाने में कराहते रहे: बता दें कि पिटाई के बाद अनूप मिश्रा को गिरफ्तार कर थाने की में बंद कर दिया गया। आरोप है कि पिटाई अधिक होने के चलते वो कराहते रहे लेकिन उनका इलाज नहीं कराया गया। इसके अगले दिन कानूनी प्रक्रिया के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। जहां उनकी हालत और गंभीर हो गई। इसके बाद जेल प्रशासन ने सीवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया।

वहीं सीवान सांसद कविता सिंह के पति जदयू नेता अजय सिंह अनूप मिश्रा का हालचालत लेने हाल-चाल लेने सदर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने कहा कि पुलिस की यह कार्रवाई पूरी तरह से साजिश के तौर पर की गई है। इस मामले को जल्द से जल्द संज्ञान में लिया जाए नहीं तो मामला सड़क से सदन तक उठाया जाएगा।

पढें बिहार समाचार (Bihar News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट