ताज़ा खबर
 

उप चुनाव से पहले नीतीश के विधायक का इस्तीफा, तेजस्वी का तंज- हम तो बच्चा हैं जी !

माना जा रहा है कि नीतीश कुमार की पार्टी के अंदर सबकुछ सामान्य नहीं चल रहा है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और कभी नीतीश के काफी करीब रहे उदय नारायण चौधरी और श्याम रजक सरीखे नेता अब खुलकर पार्टी आलाकमान के खिलाफ बोल रहे हैं।
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव।

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) अध्यक्ष नीतीश कुमार पर तंज कसा है और कहा है कि आगामी दिनों में जेडीयू को बड़ा झटका लगने वाला है। गौरतलब है कि बिहार में एक लोकसभा और दो विधान सभा सीट पर उप चुनाव होने वाले हैं। उससे पहले ही नीतीश कुमार को झटका लगा है। जोकीहाट से जदयू विधायक सरफराज आलम ने पार्टी और विधायकी से इस्तीफा दे दिया। इसी पर तंज कसते हुए तेजस्वी ने सोशल मीडिया पर लिखा है, “नीतीश कुमार के एक और MLA ने जदयू से दिया इस्तीफ़ा। इंतज़ार कीजिए अभी कितनी टूट और होगी। तेजस्वी तो बच्चा है ना जी!”

माना जा रहा है कि सरफराज आलम अररिया संसदीय सीट से उपचुनाव लड़ेंगे। राजद सांसद तस्लीमुद्दीन के निधन से ये सीट खाली हुई है। गौर करने वाली बात है कि सरफराज आलम दिवंगत सांसद तस्लीमुद्दीन के ही बेटे हैं। तस्लीमुद्दीन राजद के बड़े नेताओं में एक थे। बता दें कि राज्य में 11 मार्च को अररिया लोकसभा सीट के साथ-साथ जहानाबाद और कैमूर विधान सभा सीट पर भी उप चुनाव होने हैं। 14 मार्च को नतीजे आएंगे। जहानाबाद से राजद विधायक मुंद्रिका सिंह यादव और भभुआ से भाजपा विधायक आनंद भूषण पांडेय के निधन से ये सीटें खाली हुई हैं।

तेजस्वी ने कल (09 फरवरी ) भी नीतीश पर निशाना साधा था और लिखा था, “नीतीश कुमार बतायें उनकी पार्टी में बार-बार टूट क्यों होती है? राजद को पारिवारिक पार्टी बताने वाले तोते यह सच्चाई नहीं जानते कि राजद में से टूटकर आजतक कोई नई पार्टी नहीं बनी है। नीतीश कुमार कभी अपनी पार्टी का विलय करते है तो कभी उनकी पार्टी टूट जाती है।” दूसरे ट्वीट में तेजस्वी ने लिखा था, “नीतीश जी ने अपने Payroll पर अज्ञानी लोगों की फ़ौज रखी हुई है। जदयू मे से दो पार्टी रालोसपा और हम बनी है। इनके पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष समेत देशभर के 4 सांसद और 2 विधायक/MLC नीतीश जी को खरी-खरी एवं कड़ी-कड़ी सुनाकर पार्टी छोड़ और तोड़ चुके है पर ये अज्ञानी राजद में टूट की बात करते है।”

माना जा रहा है कि नीतीश कुमार की पार्टी के अंदर सबकुछ सामान्य नहीं चल रहा है। पूर्व विधानसभा अध्यक्ष और कभी नीतीश के काफी करीब रहे उदय नारायण चौधरी और श्याम रजक सरीखे नेता अब खुलकर पार्टी आलाकमान के खिलाफ बोल रहे हैं। उदय नारायण चौधरी तो लालू यादव से रांची की जेल में जाकर मुलाकात भी कर चुके हैं। उधर, जदयू से ही अलग होकर बनी नई पार्टी ‘हम’ के वृशिन पटेल भी लालू से मुलाकात कर चुके हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.