scorecardresearch

बिहारः अपने नेताओं के लिए JDU ने बनाया ऐप, कुशवाहा बोले- अच्छा करने वाले होंगे सम्मानित

ऐप की लांचिंग डेट अभी तय नहीं की गई है। प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने बताया- ‘कार्यकर्ताओं की शिकायत रहती थी कि उनके कामों को उचित सम्मान नहीं मिलता है, इसीलिए अब पार्टी ने तय किया है कि JDU में काम करने वाले कार्यकर्ताओं को काम के अनुसार सम्मान दिया जाएगा।

BIHAR, JDU, NITISH KUMAR
बिहार के सीएम नीतीश कुमार। (फोटोः एजेंसी)

राजनीति में अक्सर नेताओं को शिकायत रहती है कि उनके अच्छे काम को भी तवज्जो बड़े नेता नहीं देते हैं। जेडीयू ने इस दिशा में काम करते हुए एक कदम उठाया है जिससे निचले स्तर के वर्कर्स की शिकायत दूर हो जाए। अब पटना आकर उनको बड़े नेताओं की जी हुजूरी नहीं करनी पड़ेगी। क्योंकि उनके काम की समीक्षा JDU ऐप के माध्यम से होगी।

पार्टी ने जेडीयू मूल्यांकन ऐप बनाया है। यह पार्टी का इंटरनल ऐप होगा। इसमें प्रखंड अध्यक्ष, विधानसभा क्षेत्र के प्रभारी, लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी, जिला के अध्यक्ष, जिला के पदाधिकारी और प्रदेश के सभी पदाधिकारी शामिल होंगे। सभी पदाधिकारियों को अपने काम की रिपोर्ट रोज अपडेट करनी होगी। इसकी समीक्षा प्रतिदिन मूल्यांकन ऐप की टीम और समय-समय पर प्रदेश अध्यक्ष करते रहेंगे।

नीतीश हैं पीएम पद के दावेदार

ऐप की लांचिंग डेट अभी तय नहीं की गई है। प्रदेश अध्यक्ष उमेश कुशवाहा ने बताया- कार्यकर्ताओं की शिकायत रहती थी कि उनके कामों को उचित सम्मान नहीं मिलता है, इसीलिए अब पार्टी ने तय किया है कि JDU में काम करने वाले कार्यकर्ताओं को काम के अनुसार सम्मान दिया जाएगा। बेहतर करने वाले को सम्मानित किया जाएगा।

गौरतलब है कि बिहार चुनाव में जेडीयू को 43 सीटें मिली थीं। राष्ट्रीय जनता दल 75 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी जबकि बीजेपी ने भी अपनी सीटों में इजाफ़ा किया है और वो 74 सीटों के साथ दूसरे नंबर पर है। इन चुनावों में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी का प्रदर्शन बहुत अधिक उत्साहित करने वाला नहीं रहा।

साल 2015 में 71 सीटें जीतने वाली जेडीयू को इस बार 43 सीटें ही हासिल हुईं। जाहिर है कि पार्टी के लिए ये दौर आत्ममंथन का है। फिर से अपना पुराना रुतबा हासिल करने के लिए जरूरी है कि कुछ अलग किया जाए। ये ऐप इसी दिशा में पार्टी का एक प्रयास लग रहा है।

अब पार्टी अपने आप को जमीनी स्तर पर मजबूत करने में जुट गई है। इसको लेकर जेडीयू टेक्नोलॉजी का भी सहारा ले रही है। पार्टी की कोशिश है कि विधानसभा चुनाव में पार्टी का जो हाल हुआ है वो दोबारा नहीं हो। मूल्यांकन ऐप के जरिए खुद को मजबूत करने की कवायद है।

पढें बिहार (Bihar News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.