ताज़ा खबर
 

नीतीश पर तेजस्वी का तंज- चेहरा चमकाना चाह रहे हैं सीएम, पर कोहरा बहुत है, दिखेगा नहीं

तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर राज्य में शिक्षा व्यवस्था चौपट करने का भी आरोप लगाया है।
नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव। (FILE PHOTO)

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर लगातार हमला बोल रहे हैं। इस बार उन्होंने दहेज निषेध और बाल विवाह निषेध के मुद्दे पर छात्रों और शिक्षकों द्वारा मानव शृंखला बनवाने पर सीएम पर निशाना साधा है। उन्होंने तंज कसा है कि मुख्यमंत्री अपना चेहरा चमकाने के लिए यह आयोजन कर रहे हैं लेकिन कोहरा बहुत है, उनका फेस दिखेगा नहीं। सोशल मीडिया पर तेजस्वी ने लिखा है, “नीतीश जी,शिक्षकों और छात्रों का मानव शृंखला में भाग लेना ऐच्छिक होना चाहिए ना की अनिवार्य। बिहार जानता है चेहरा चमकाने के लिए आप यह सब कर रहे है लेकिन इस भारी कुहासे में आपका चेहरा नहीं दिखेगा इसलिए धुँध छँटने दिजीए ताकि आपका चेहरा भी दिख सके और स्कूली छात्रों को परेशानी भी ना हो।”

तेजस्वी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, “अपने महिमामंडन के लिए CM मानव शृंखला के नाम पर मानवीय पहलू को दरकिनार कर सरकारी कर्मचारियों और स्कूली बच्चों को कड़ाके की ठंड में परेशान कर रहे हैं। एक तरफ़ ठंड के नाम पर प्रशासन ने स्कूलों की 15 तक छुट्टी की हुई है दूसरी तरफ़ उन्हें सुबह-2 कड़ाके की ठंड में खड़ा किया जा रहा है।” इसके साथ ही तेजस्वी ने नीतीश कुमार पर राज्य में शिक्षा व्यवस्था चौपट करने का भी आरोप लगाया है।

उन्होंने तीसरे ट्वीट में लिखा है, “बिहार में शिक्षाबंदी कर बाक़ी हर प्रकार की बंदियों पर कार्य किया जा रहा है। सभी सामाजिक सुधारों की बुनियाद शिक्षा ही है। नीतीश जी शिक्षा व्यवस्था का सत्यानाश कर समाज सुधारक बनना चाह रहे है।”

तेजस्वी के ट्वीट पर जदयू नेता संजय सिंह ने पलटवार किया है। उन्होंने भी ट्वीट कर लिखा है, “आपकी बातें हैरत पैदा करती हैं। एक ऐसा युवा जो खिलाड़ी भी रहा हो वो नई पीढ़ी को ठंड का डर दिखाकर सियासत कर रहा। मानव श्रृंखला का उद्देश्य बड़ा है, जिसके सोचने भर से बिहार में नई ऊर्जा का संचार हो रहा। सियासत छोड़.. 21 जनवरी को मानव श्रृंखला का हिस्सा बनिए।” बता दें कि 21 जनवरी को राज्यभर में दहेज और बाल विवाह के खिलाफ राज्य सरकार ने मानव शृंखला बनाने का फैसला किया है। पिछले साल भी 21 जनवरी को शराबबंदी के समर्थन में मानव शृंखला का आयोजन किया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.