ताज़ा खबर
 

लालू यादव से ज्यादा संपत्ति की मालकिन हैं राबड़ी देवी, दोनों बेटों से लिया है 40 लाख कर्ज, चुनावी हलफनामे से खुलासा

26 अप्रैल को होने वाले विधान परिषद के लिए राजद की तरफ से राबड़ी देवी समेत कुल चार लोगों ने नामांकन दर्ज किया है। इनमें पूर्व मंत्री और राजद प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के बेटे संतोष मांझी और पार्टी नेता खुर्शीद मोहसिन भी शामिल हैं।

Author Updated: April 15, 2018 10:02 AM
बिहार के पूर्व मुख्‍यमंत्री लालू यादव और पत्‍नी राबड़ी देवी। (FILE PHOTO: PTI)

बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी अपने पति और पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव से ज्यादा संपत्ति की मालकिन हैं। विधान परिषद चुनावों के लिए नामांकन के वक्त सौंपे चुनावी हलफनामे में उन्होंने जो विवरण दिया है, उससे यह खुलासा हुआ है। चुनावी हलफनामे में चल-अचल संपत्ति का विवरण दिया गया है। उसके मुताबिक राबड़ी देवी के पास कुल लगभग 10 करोड़ की अचल संपत्ति है जबकि उनके पति के पास 1.18 करोड़ की अचल संपत्ति है। राबड़ी के हलफनामे के मुताबिक उनकी कर योग्य आमदनी पिछले वित्तीय वर्ष में करीब 42.32 लाख थी, जबकि उनके पति की यह आमदनी 19.68 लाख रुपये थी।

राबड़ी देवी ने अपना पेशा व्यवसाय और सामाजिक कार्य दिखाया है। राबड़ी ने लारा प्रोजेक्ट में 1.81 करोड़ का निवेश किया है। राबड़ी के पास अन्य कंपनियों में करीब 12.55 लाख रुपये मूल्य के शेयर भी हैं। हलफनामे के मुताबिक राबड़ी खटाल भी चलाती हैं जिनमें 60 गाय और बछड़े हैं। राबड़ी के पास कोई वाहन नहीं है, जबकि लालू के पास एक मारुति 800 कार है। इसके अलावा राबड़ी के पास करीब 467 ग्राम सोना है जिसकी कीमत लगभग 14 लाख रुपये है। राबड़ी के पास एक किलो चांदी भी है जबकि लालू के पास मात्र दो लाख रुपये मूल्य के ही गहने हैं।

राबड़ी देवी द्वारा सौंपे गए हलफनामे के मुताबिक उन्होंने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव से 26.5 लाख रूपये और छोटे बेटे तेजस्वी यादव से 13.5 लाख रुपये का कर्ज लिया है। इनके अलावा पार्टी नेता प्रेम चंद गुप्ता से भी राबड़ी देवी ने 15 लाख रुपये कर्ज ले रखा है। अपने भाई सुभाष यादव से भी राबड़ी ने व्यवसाय के लिए 25 लाख रुपये कर्ज ले रखा है। राबड़ी के पास एक गन भी है। लालू के पास भी एक रायफल और जर्मन पिस्टल है। पटना, दानापुर, गोपालगंज, फुलवरिया में राबड़ी के पास जमीन और प्लॉट भी हैं। हलफनामे के मुताबिक राबड़ी पर प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग की जांच के घेरे में हैं। राबड़ी पर पांच अलग-अलग किस्म के केस दर्ज हैं। इनमें से चार पर अदालत संज्ञान ले चुकी है।

बता दें कि 26 अप्रैल को होने वाले विधान परिषद के लिए राजद की तरफ से राबड़ी देवी समेत कुल चार लोगों ने नामांकन दर्ज किया है। इनमें पूर्व मंत्री और राजद प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी के बेटे संतोष मांझी और पार्टी नेता खुर्शीद मोहसिन भी शामिल हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एक महीने में दूसरी बार नीतीश ने कहा- सत्ता रहे या जाय, उसूलों से नहीं करूंगा समझौता
जस्‍ट नाउ
X