X

मेरी दो दर्जन चचेरी-ममेरी बहनें हैं, सबूत मिले तो कार्रवाई कीजिए, रेखा मोदी के घर IT छापे पर बोले सुशील मोदी

तेजस्वी ने आरोप लगाया है कि सृजन घोटाले में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री दोनों की संलिप्तता है और अगर सही से जांच हुई तो सुशील मोदी जेल में होंगे।

बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी की बहन रेखा मोदी के घर इनकम टैक्स के छापे के बाद विपक्ष ने उन पर आरोप लगाया है कि उन्हें बचाने के लिए रेखा मोदी के घर छापे डलवाए गए हैं। विपक्ष के आरोप पर सुशील मोदी ने कहा है कि उनकी दो दर्जन से ज्यादा चचेरी, ममेरी, फुफेरी और मौसेरी बहने हैं। अगर इनमें से किसी के खिलाफ कोई सबूत जांच एजेंसियों को मिले तो उन पर कड़ी कार्रवाई हो। बता दें कि रेखा मोदी सुशील मोदी की चचेरी बहन हैं और करीब 800 करोड़ रुपये के सृजन घोटाले में आरोपी हैं। इसी सिलसिसे में आईटी डिपार्टमेंट ने गुरुवार (06 सितंबर) को उनके पटना और भागलपुर ठिकानों पर छापेमारी की है। रेखा मोदी को सृजन घोटाले की मास्टरमाइंड मनोरमा देवी का करीबी माना जाता है। उन पर आरोप है कि उन्होंने सृजन के खाते से करोड़ों रुपये लिए हैं। इसके साथ ही आरोप है कि रेखा ने उन पैसे से महंगे-महंगे गहने खरीदे और उसे राजनेताओं और बड़े अधिकारियों के रिश्तेदारों को गिफ्ट किए।

सुशील मोदी ने कहा कि रेखा उनकी दूर दराज की बहन हैं। उन्होंने कहा कि रेखा से हमारे संबंध बेहतर नहीं हैं क्योंकि उन्होंने मुझ पर भी मुकदमा कर रखा है। उनसे दस साल से कोई मुलाकात नहीं है। मोदी ने कहा कि रेखा से उनका न तो कोई व्यावसायिक संबंध हैं न कोई वित्तीय लेन-देन है। ऐसे में अगर विपक्ष के नेता उन पर आरोप लगा रहे हैं तो लगाते रहें। उधर, मोदी पर पलटवार करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि सुशील मोदी राज्य के खजाना मंत्री थे, उनके ही नाम पर सारा खेल चल रहा था। उन्होंने कहा कि वो ऐसे वित्त मंत्री हैं जिनके काल में खजाना घाटे में चला गया।

तेजस्वी ने आरोप लगाया है कि सृजन घोटाले में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री दोनों की संलिप्तता है और अगर सही से जांच हुई तो सुशील मोदी जेल में होंगे। बता दें कि रेखा मोदी साल 2010 में पटना के बांकीपुर विधान सभा से बीजेपी के खिलाफ चुनाव लड़ चुकी हैं। 2010 में ही रेखा ने सुशील मोदी पर घरेलू हिंसा का केस भी दर्ज कराया था। रेखा साल 2010 में ही पुलिस से बदसलूकी के मामले में एक हफ्ते तक जेल में भी रही थीं। उन पर करीब दस मुकदमें दर्ज हैं।

  • Tags: Bihar,