scorecardresearch

मैंने जिहादियों के खिलाफ बोला तो धमकी मिल गई- बिहार के BJP विधायक का दावा, अग्निपथ के विरोध पर दिया था विवादित बयान

बिहार के बीजेपी विधायक हरि भूषण ठाकुर का कहना है कि किसी गुमनाम शख्स ने उन्हें फोन करके जान से मारने की धमकी दी है। उन्होंने पटना सचिवालय में शिकायत दर्ज करवाई है।

Hari Bhushan Thakur Bachol| Bihar BJP
बिहार में बीजेपी विधायक (फोटो सोर्स- फेसबुक)

मधुबनी के बिस्फी विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक हरि भूषण ठाकुर बचौल का कहना है कि उन्हें जान से मारने की धमकी मिली है। उन्होंने बताया कि उन्हें गुरुवार (23 जून, 2022) को रात को एक गुमनाम व्यक्ति ने फोन करके जान से मारने की धमकी दी है। इसकी शिकायत उन्होंने शुक्रवार (24 जून, 2022) को पटना के सचिवालय पुलिस स्टेशन में दर्ज करवा दी है।

उन्होंने कहा, “मैं गुरुवार रात बिस्फी से पटना आ रहा था। जब मैं रात करीब 10 बजकर 38 मिनट पर मुजफ्फरपुर के पास पहुंचा तो एक गुमनाम शख्स ने फोन कर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हुए मुझे जान से मारने की धमकी दी।” उन्होंने यह भी कहा कि वह इस संबंध में राज्य विधानसभा अध्यक्ष से शिकायत करने जा रहे हैं।

सचिवालय पीएस के एसएचओ सी पी गुप्ता ने इन बात की पुष्टि की है कि उन्हें विधायक की तरफ से धमकी भरे कॉल के बारे में शिकायत मिली थी। हालांकि, मामला मधुबनी से जुड़ा है, इसलिए यह शिकायत मधुबनी पुलिस को भेजी जाएगी।

भूषण ठाकुर का कहना है, “मैंने जिहादियों और देशद्रोहियों के खिलाफ बात की। शायद इसलिए मुझे धमकी दी गई है।” बता दें कि हाल ही में, केंद्र की ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ हुए प्रदर्शनों को लेकर ठाकुर ने कहा था कि जो लोग हंगामा कर रहे हैं वे राष्ट्रविरोधी और जिहादी मानसिकता के लोग हैं। इससे पहले भी एक बयान को लेकर भूषण ठाकुर सुर्खियों में आ गए थे। उन्होंने अपने बयान में कहा था कि देश में अल्पसंख्यकों के लिए मतदान का अधिकार समाप्त कर दिया जाना चाहिए।

हरि भूषण ठाकुर बिहार के उन 10 बीजेपी नेताओं में शामिल हैं, जिन्हें सेना की नई भर्ती नीति के खिलाफ हालिया हिंसा के बीच ‘वाई’ श्रेणी का सुरक्षा कवच दिया गया था। बता दें कि सेना में भर्ती के लिए लाई गई सरकार की “अग्निपथ योजना” को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन हुए, जिसमें कई राज्यों में आगजनी और तोड़फोड़ की घटनाएं सामने आई थीं। योजना से नाराजगी जताते हुए ये युवा सरकार से योजना को वापस लेने की मांग कर रहे थे।

पढें बिहार (Bihar News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X