ताज़ा खबर
 

बिहार: बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र ज्ञानू का दावा- राष्ट्रपति चुनाव से पहले ही टूट जाएगा महागठबंधन, नीतीश और लालू हो जाएंगे अलग-अलग

केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने भी कहा था कि नीतीश कुमार को गठबंधन तोड़कर एनडीए में शामिल हो जाना चाहिए

bihar, congress, bihar congress, ashok chaudhary bihar, nitish kumar, RJD, JDU, grand alliance, lalu yadavबिहार चुनावों से पहले लालू और नीतीश ने भाजपा को रोकने के लिए हाथ मिलाए थे। कांग्रेस भी बाद में इस गठबंधन से जुड़ गई थी।

राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को जेडीयू द्वारा समर्थन दिए जाने के बाद बिहार का राजनीतिक तापमान चढ़ा हुआ है। बिहार की बेटी मीरा कुमार को यूपीए ने उम्मीदवार बनाया है। बावजूद इसके नीतीश कुमार ने अपना समर्थन एनडीए को जारी रखने का फैसला किया है। इस बीच महागठबंधन में खटास पैदा होने लगी है। मौके की नजाकत को देखते हुए बीजेपी के नेताओं की इच्छा है कि यह महागठबंधन टूट जाय, ताकि नीतीश कुमार एनडीए में शामिल हो सकें और बिहार में भी बीजेपी सत्ता का सुख भोग सके।

लाइव सिटीज डॉट कॉम से बातचीत में पटना जिले के बाढ़ विधानसभा से बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने दावा किया है कि जेडीयू-आरजेडी का गठबंधन राष्ट्रपति चुनाव यानी 17 जुलाई से पहले ही टूट जाएगा। महागठबंधन पर हमला बोलते हुए ज्ञानू ने कहा कि आरजेडी के साथ सरकार चलाने में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार असहज महसूस कर रहे हैं। बता दें कि ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू पहले जेडीयू में ही थे और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफी करीब थे। साल 2014-15 में राज्य में उपजे राजनीतिक उठापटक के दौरान वो जीतनराम मांझी के खेमे में चले गए थे। बाद में 2015 के विधानसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी के टिकट पर फिर से बाढ़ विधानसभा से चुनाव जीता है। इन दिनों फिर से ज्ञानू नीतीश के करीब होते जा रहे हैं।

पिछले दिनों भी ज्ञानू ने देवघर में कहा था कि सीएम नीतीश कुमार राजद के साथ तालमेल बिठाकर राज्य में विकास करने में असहज महसूस कर रहे हैं। इसलिए गठबंधन कम ही दिनों का मेहमान है। ज्ञानू ने कहा है कि महागठबंधन अब बहुत कमजोर हो चुका है। संभवत: यह जून-जुलाई तक ही चल पाए। उन्होंने कहा कि लालू यादव और नीतीश कुमार दोनों अलग-अलग सोच के नेता हैं।

बाढ़ से बीजेपी विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू। (एक्सप्रेस आर्काइव)

इससे पहले एनडीए में शामिल लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने भी कहा था कि नीतीश कुमार को गठबंधन तोड़कर एनडीए में शामिल हो जाना चाहिए। पासवान ने तो यहां तक कह डाला कि नीतीश जितना जल्दी एनडीए में आएंगे, उतना ही भला होगा। गौरतलब है कि रामनाथ कोविंद को समर्थन देने पर लालू यादव ने नीतीश कुमार से फैसले पर पुनर्विचार करने को कहा था, साथ ही कहा था कि वो ऐतिहासिक भूल करने जा रहे हैं लेकिन शुक्रवार को लालू के दावत-ए-इफ्तार में जब नीतीश ने पहुंचकर जिस तरह से मीडिया को जवाब दिया, उससे लगने लगा है कि लालू-नीतीश के बीच मनमुटाव बढ़ रहा है। शनिवार को ही लालू के एक विधायक ने नीतीश कुमार को ठग करार दिया और कहा कि ऐसा कोई सगा नहीं, जिसे नीतीश कुमार ने ठगा नहीं। लिहाजा, राजनीतिक हलकों में माना जा रहा है कि बिहार में सत्तासीन महागठबंधन की तबीयत नासाज है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 मन की बात पर लालू के बेटे तेजस्वी ने अंग्रेजी में की दिल की बात तो लोगों ने पूछा- नौवीं फेल-मंदबुद्धि तूने इतनी अच्छी इंग्लिश कैसे लिखी
2 2020 बिहार विधानसभा चुनाव: नीतीश के खिलाफ मैदान में उतर सकते हैं योगी आदित्य नाथ?
3 रामविलास पासवान बोले- लालू यादव को छोड़कर नीतीश कुमार जितनी जल्दी एनडीए में आएंगे, उतना ही भला होगा
ये पढ़ा क्या?
X