ताज़ा खबर
 

15 दिन में 43 मौतें, लोग कह रहे किसी काले साये का प्रकोप तो नहीं?

4 जून को गंगा दशहरा के रोज गंगानदी में स्नान करने गए सबौर के बाबूपुर घाट में डूबने से 4 लड़कों की जान चली गई।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है।

बीते एक पखवारे में भागलपुर ज़िले में अलग-अलग वाक्यों में 43 लोगों की जानें गई। इनमें प्रकृति ने आकाश से जमकर कहर बरपाया। हत्याएं भी कई हुई। इनमें आपसी रिश्तों का खून हुआ। हादसे भी हुए। इन सब में आखिर जान तो बेकसूरों की ही गई। यूं कहा जा सकता है कि भागलपुर के लिए बीता पखवारा किसी कोप से कम नहीं था। पहले गिनती कुदरत के कोप की करते है। आंधी, बारिश और ब्रजपात ने ही 14 की जान ले ली।

सोमवार 5 जून को सुल्तानगंज के रतनपुर गांव के प्रदीप रविदास की पत्नी जयमाला देवी (43 ) की ठनका गिरने से मौत हो गई। यह खेत में भैंस चरा रही थी। इससे पहले 28 मई को इसी खमपुर पंचायत के दौलतपुर गांव के चंदन कुमार और अजित कुमार की बिजली गिरने से जान गई। 2 जून को कहलगांव के रमजानीपुर में आम बगीचे की रखवाली कर रहे सुभाष यादव (48) की मौत आकाशीय बिजली की चपेट में आने से हुई। तो मकई खेत में काम कर रहे ओरियम गांव के बुगल राम (45) भी व्रजपात की वजह से मरा।

कहलगांव के सनोखर महेशखोर गांव में पहली जून को आंधी बारिश के बीच बिजली गिरने से सावित्री देवी (65) और रूबी देवी (38) की मृत्यु हो गई। ये दोनों सास बहू थी और आम के पेड़ के नीचे बैठी थी। इससे पहले 25 मई को कहलगांव महादलित टोला के दीपू कुमार (10), संगीता कुमारी (10), सुलेखा कुमारी (14), आरती कुमारी (8), दिलीप यादव (15), पन्नुचक के अमर कुमार (7) और धनोरा गांव के आलोक यादव (25) की आकाश से गिरी बिजली ने जान ले ली थी। जबकि पांच लोग इसकी चपेट में आकर जख्मी हो गए थे।

गंगापार परबत्ता थाना इलाके से एक महिला का शव 7 जून को पुलिस ने वरामद किया है। तहकीकात में पुलिस को पता चला कि उसकी हत्या कर बाइक सवार दो जनें लाश को फेक गए। लाश की शिनाख्त नहीं हो सकी है। इसी रोज शंकरपुर दियारा के अमर कुमार मंडल (30) ने जहर खाकर जान दे दी। पुलिस के मुताबिक पत्नी से झगड़ा की वजह से इसने थाईमेट खा लिया था। भागलपुर जेएनएल अस्पताल में इसे भर्ती किया गया, मगर सब कोशिश बेकार गई। नाथनगर के मसुदनपुर में अनिल तांती के बेटे विकास कुमार (8) की सांप काटने से मौत हो गई। वहीं साहेबगंज से पीरपैंती ट्रेन से आ रहे शंभु साहनी (45) की ट्रेन से कट कर जान चली गई। वह बुद्धचक थाना के कटारिया गांव का रहनेवाला था। नवगछिया बस स्टैंड के पास से पुलिस ने 27 मई को एक लावारिश लाश वरामद की है। जिसे लगता है ईंट पत्थरों से कूच दिया गया हो।

5 जून को कजरैली थाना के गोराचौकी गांव के हिमांशु यादव (26 ) की प्रेम विवाह करने की वजह से लड़की के परिवारवालों ने घर में घुसकर पहले तो जमकर पिटाई की और फिर गोली मार जान ले ली। लड़की सोनी को यह पढ़ता था। इसी दौरान इश्क हो गया और ये घर से भाग शादी कर ली। इस बाबत पुलिस में रपट लिखी है। ये दोनों ही परिवार एक ही गांव और आपस में पहले से रिश्तेदार है। 5 जून को ही सुल्तानगंज के पैन गांव के रविंद्र यादव ने अपने तीन बेटों को गोली मार दी। जिनमें एक मुकेश यादव की मौत मौके पर ही हो गई। यह पेशे से शिक्षक था। दूसरे बेटे मनोज और छोटू यादव जख्मी हालत में भागलपुर में इलाज करवा रहे हैं।

रविंद्र यादव महेशी पंचायत का मुखिया रह चुका है। इसके पांच बेटे हैं। घर वाले यदि इसे नहीं रोकते तो यह पांचों को गोली मार देता। यह शुरु से अपराधी मिजाज का है। इसी वजह से अपने ही खून का खून करने में जरा भी इसे हिचक नहीं आई। पुलिस बताती है कि रोज शराब पीकर बखेड़ा करना इसकी दिनचर्या का हिस्सा था। फिलहाल वह फरार है। मृत मुकेश की पत्नी पूनम ने हत्यारे ससुर के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कराया है। पुलिस तहकीकात कर रही है।

5 जून को ही अररिया से अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बाइक पर नवगछिया आ रहे अनिल साह दुर्घटना के शिकार हो गए। भागलपुर मेडिकल कालेज अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। उसकी पत्नी पूनम और दो बच्चों का भी इलाज चल रहा है। 10वीं की परीक्षा में फेल होने पर एसकेपी विद्या विहार की छात्रा सिमरन राज ने अपने घर खुदकशी कर ली। इस बाबत थाना मोजाहिदपुर ने मामला दर्ज किया है। उधर, 12वीं में फेल हुई कहलगांव एसएसवी कालेज की छात्रा खुशबू कुमारी ने अपने ननिहाल पीरपैंती के योगिया तालाब गांव में आत्महत्या कर ली। वह साहेबगज के दिलीप महतो की बेटी है। 2015 में वो 10वीं की परीक्षा प्रथम श्रेणी से पास की थी। वहीं 12वीं की रिजल्ट आने पर यहां कई छात्राओं ने जान दे दिया।

4 जून को गंगा दशहरा के रोज गंगानदी में स्नान करने गए सबौर के बाबूपुर घाट में डूबने से 4 लड़कों की जान चली गई। पहले अभिषेक और सुमित नहाने के दौरान डूबे। इन्हें डूबता देख सुलतांभित्ति गांव से नहाने आए राजा और नीरज बचाने नदी में कूदे। नतीजतन वे भी देखते देखते डूब गए। इन सभी की उम्र 17-20 साल बताई जाती है। 28 मई को कहलगांव में एक नाबालिग गोलू कुमार नहाने के दौरान गंगा नदी में डूब मर गया। वहीं घोघा घाट पर एक ट्रक खलासी की डूबने से मौत हो गई।

गंगापार बिहपुर के मड़वा सहोरी गांव के मोहम्मद रज्जाक की बेटी हजरीना खातून और मोहम्मद किरानी की बेटी बेबी खातून नहाने के दरम्यान कोशी नदी में डूब कर मर गई। यह 24 मई की बात है। इसी रोज सबौर इंजीनियरिंग कालेज के पीछे घाट पर स्नान करने गए दो मौसेरे भाई हिमांशु और राजकुमार डूब गए। इनकी लाशों को एसडीआरएफ के जवानों ने नदी से निकाला। ये मृत घोषित किए गए। 24 मई को ही जगदीशपुर के टूटा पुल के नजदीक दो बाइक सवार वैन से टकरा गए। दोनों परवेज और अख्तर की मौके पर ही मौत हो गई। इसी रोज गंगा पार नवादा बाजार में दिनदहाड़े बदमाशों ने स्कुल टीचर विजय कुमार मंडल को गोली मार मौत के घाट उतार दिया। यह बहतरा अलालपुर के भुवनेश्वर मंडल का बेटा था। और खगड़िया के खजरैठा मध्य विद्यालय से अपने घर लौट रहा था। डीएसपी मुकुल रंजन के मुताबिक हत्या की वजह का पता नहीं चल सका है।

साहेबगंज मोहल्ले के नरेगा रोड पर एक ट्रेक्टर ने एक ठेले चालक सेबो यादव को कुचल डाला। यह 25 मई की बात है। 1 जून को कहलगांव के विक्रमशिला रेलवे स्टेशन के समपार एनएच-80 पर बेकाबू ट्रक ने लोगांय गांव के अमित चौधरी (20) को कुचल डाला। उसकी मौके पर ही मौत हो गई। 3 जून को भागलपुर विश्वविद्यालय के पीजी गर्ल्स हॉस्टल की दीवारों को रंगरोगन कर रहे मजदूर अजय सिंह (45) की दूसरी मंजिल से गिरने से मौत हो गई। गंगापार नारायणपुर चौक के नजदीक तेज गति से आ रही ट्रक ने सड़क पार कर रहे चंदन दास (20) को कुचल डाला। यह रायपुर गांव के रामदेव दास का बेटा था।

26 मई को कहलगांव स्टेशन पर ट्रेन की चपेट में आने से सुबोध साह की मौत हो गई। दुखद बात यह भी है कि इसकी शादी इसी 22 मई को हुई थी। कहलगांव के वरोनी गांव में छोटू राय पर लड़की से छेड़खानी का आरोप लगा इसके पिता योगेंद राय की ही घातक हथियार से हत्या कर दी। यह 1 जून की बात है। इस सिलसिले में अनीता देवी ने अपने पति की हत्या करने में नामजद मामला पुलिस में दर्ज किया है। इसी रोज बरारी में एक लड़के की लाश मिली। जिसकी शिनाख्त परबत्ता के विपिन कुमार के बेटे कृष्ण कुमार के तौर पर की गई।

29 मई को हावड़ा से परीक्षा देकर लौट रहे हिमांशु कुमार की लाश भागलपूर लेलक स्टेशन की पटरी पर मिली। इसके पिता रामविलास झा पीएचईडी महकमा में नोकरी करते है।रेल थाना में एफआईआर लिखाई है। 28 मई को सुल्तानगंज में जबरन घर से उठा 22 साल के मुन्ना ठाकुर को गोली मार बदमाशों ने जान ले ली। यह मोबाइल मरम्मत का काम करता था और पंकज ठाकुर का बेटा था।

देखिए वीडियो - टॉप 5 हेडलाइंस- लालू ने किया मोदी पर हमला, योगी राज में नहीं थम रहे वारदात और अन्य खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App