दिल्ली में चुराता था महंगी कार, लग्जरी सामान: गांव में कराता था गरीब बेटियों की शादी, बूढ़ों का इलाज - 27 year old Irfan stole Luxury cars and expensive watches, jewelry from Delhi’s rich, helped the poor in his Bihar village - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली में चुराता था महंगी कार, लग्जरी सामान: गांव में कराता था गरीब बेटियों की शादी, बूढ़ों का इलाज

पांचवीं फेल इस युवक का नाम इरफान है, जो फिलहाल दिल्ली पुलिस के चंगुल में है। पुलिस रिकॉर्ड में उसके ऊपर सेंधमारी-चोरी के 12 मामले दर्ज हैं।

जांचकर्ताओं के मुताबिक इरफान ने एक बार एक बार में सिर्फ इसलिए बार मैनेजर को 10 हजार रुपये दिए थे ताकि उसकी पसंद का गाना सुना सके।

दिल्ली पुलिस ने बिहार के सीतामढ़ी जिले के पुपरी से 27 साल के एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है जो रियल लाइफ का रॉबिन हुड है। वह दक्षिणी-पूर्वी दिल्ली के पॉश इलाकों के घरों में सेंधमारी कर महंगी कार और एशो-आराम के सामान चुराता था। फिर अपने गांव जाकर समाजसेवा करता था। गरीब बेटियों की शादी में आने वाली आर्थिक अड़चन को दूर करता था। गांव के गरीब बुजुर्गों के लिए मेडिकल कैम्प लगवाता था। गांव और आसपास के लोग उसे इज्जतभरी निगाहों से देखते और उसे समाजसेवी कहते थे।

पांचवीं फेल इस युवक का नाम इरफान है, जो फिलहाल दिल्ली पुलिस के चंगुल में है। पुलिस रिकॉर्ड में उसके ऊपर सेंधमारी-चोरी के 12 मामले दर्ज हैं। उसे महंगी कार से चलने और महंगी घड़ियां पहनने का शौक है। 6 जुलाई को जब दिल्ली पुलिस की टीम ने इरफान को उसके गांव से गिरफ्तार किया तब वह रॉलेक्स घड़ी पहने हुए था, जिसे उसने न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी के एक बंगले से चुराया था।

कुछ महीने पहले ही इरफान ने चोरी की महंगी घड़ियों और ज्वैलरी को बेचकर होन्डा सिविक कार खरीदी थी। पुलिस ने धर्मेन्द्र नाम के उस दुकानदार को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिसे वह ज्वैलरी बेचता था। जब इरफान को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया तो गांव वाले हैरान रह गए। ग्रामीण उसे उजाला बाबू कहकर बुलाते थे। उन्हें विश्वास नहीं हो रहा था इरफान दिल्ली में चोरी करता था।

दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के डीसीपी रोमिल बनिया ने एचटी मीडिया को बताया कि इरफान अक्सर दिल्ली और मुंबई के बार क्लब में जाया करता था। जांचकर्ताओं के मुताबिक इरफान ने एक बार एक बार में सिर्फ इसलिए बार मैनेजर को 10 हजार रुपये दिए थे ताकि उसकी पसंद का गाना सुना सके। पुलिस के मुताबिक इरफान ना सिर्फ अपने गांव वालों से झूठ बोल रहा था बल्कि अपनी गर्लफ्रेंड से भी अपनी असलियत छुपा रहा था। उसकी गर्लफ्रेंड भोजपुरी फिल्मों में काम कर चुकी है। इरफान चार साल पहले नौकरी की तलाश में दिल्ली आया था। जब नौकरी नहीं मिली तो उसने गारमेन्ट का धंधा शुरू किया था लेकिन वो चल नहीं सका। उसके बाद वो सेंधमारी-चोरी के गलत धंधे में लिप्त हो गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App