बिहार में भ्रष्टाचार! कैश छुपाने को अभियंता ने छत पर बनना रखे थे डिब्बे-लॉकर, रस्सियों में बांध रखे थे नोटों के बंडल; रेड में मिले 1.43 करोड़ रुपये

पटना में राज्य पुल निर्माण निगम लिमेटेड के एक इंजीनियर के घर जब विजिलेंस टीम ने छापा मारा तो करोड़ों के नोट सूटकेस में भरे मिले। नोटों की संख्या इतनी थी कि अधिकारियों को गिनने के लिए मशीन लना पड़ गया।

raid in patna
पटना में इंजीनियर रविन्द्र कुमार के घर रेड डालती विजिलेंस टीम (फोटो- PTI)

बिहार के एक सरकारी इंजीनियर का भ्रष्टाचार ऐसा है कि छापे में जहां भी हाथ डले, नोटों का बंडल ही निकला। आय से अधिक संपत्ति मामले की जांच करने जब विजिलेंस विभाग के अधिकारी पहुंचे तो नोटों का अंबार लग गया।

दरअसल राज्य पुल निर्माण निगम लिमेटेड के एक्सक्यूटिव इंजीनियर रविन्द्र कुमार के बारे में जब बिहार विजिलेंस विभाग को ये सूचना मिली कि उनके पास लाखों की ऐसी संपत्ति है जिसका कोई लेखा-जोखा नहीं है। फिर क्या था विजिलेंस विभाग पहुंच गई इंजीनियर रविन्द्र कुमार के पुनाईचक घर। छापा जब पड़ना शुरू हुआ तो और अधिकारियों ने जब नोट गिनने शुरू किए तो हाल ये हुआ कि नोट गिनते-गिनते अधिकारियों के हाथ ही दुख गए। अंत में बैंक से नोट गिनने की मशीन मंगवानी पड़ गई।

आरोपी इंजीनियर ने अपने बेड रूम की छतों पर लॉकर और बॉक्स बनवा रखे थे। जिसमें सूटकेसों में नोटों का बंडल भर कर रखा गया था। पांच-पांच लाख का बंडल रस्सियों से बांध कर रखा गया था।

छापा जब खत्म हुआ तो इंजीनियर के घर से विजिलेंस की टीम 1 करोड़ 43 लाख का कैश बरामद कर चुकी थी। इसके साथ ही डेढ़ किलो सोना और करीब 4 किलो चांदी भी बरामद की गई है। जिसकी कीमत लगभग 67 लाख आंकी गई है। इतना तो नकद मिला। बाकी, कई बैंकों के पासबुक, लाखों के निवेश के दस्तावेज विजिलेंस के हाथ लगा है।

छापे में इंजीनियर और उनकी पत्नी के नाम पर 8 जमीनों के कगजात भी हाथ लगे हैं।  इसके अलावा 20 लाख की फिक्सड डिपोजिट के दस्तावेज भी मिले हैं। इस मामले में विजिलेंस ने आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। जांच में ये बात भी सामने आई है कि जिन संपत्तियों के कागजात इंजीनियर रविन्द्र के यहां से मिले हैं उसका जिक्र उन्होंने वार्षित संपत्ति विवरण में नहीं किया है।

इंजीनियर रविन्द्र कुमार के बारे में बताया जा रहा है कि वो बिहार सरकार के एक पूर्व मंत्री के रिश्तेदार भी हैं। बता दें कि रविन्द्र कुमार हाल ही में राज्य पुल निर्माण निगम लिमिटेड में पोस्टेड हुए थे। उससे पहले रविन्द्र पथ निर्माण विभाग वैशाली में कार्यपाल अभियंता के रूप में तैनात थे।

पढें राज्य समाचार (Rajya News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।