scorecardresearch

बिहारः मोबाइल की फ्लैश लाईट में बीए की परीक्षा देते दिखे छात्र तो उठा सवाल- परीक्षा और फोन एक साथ कैसे?

परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों का कहना था कि वे काफी दूर से एग्जाम देने आए हैं, मगर कॉलेज में किसी तरह का इंतजाम नहीं है।

बिहार में शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलने वाली तस्वीर सामने आई है। यहां बिजली न होने के कारण परीक्षार्थी मोबाइल फोन की फ्लैश-लाइट में परीक्षा देने को मजबूर हुए। ये मामला मुंगेर के प्रतिष्ठित कॉलेजों में शुमार आरडी एंड डीजे कॉलेज का है जहां, छात्रों के मोबाइल टॉर्च की रोशनी में परीक्षा देने का वीडियो सोशल मीडिया जमकर वायरल हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक, आरडी एंड डीजे कॉलेज में जेआरएस कॉलेज के छात्रों का एग्जाम सेंटर पड़ा था। यहां पर बीए प्रथम वर्ष और द्वितीय वर्ष की सब्सिडी के इतिहास की परीक्षाएं चल रही हैं। इसी दौरान बारिश होने लगी और बिजली गुल हो गई। तमाम कोशिशों के बाद भी जब जेनरेटर स्टार्ट नहीं हो पाया तब छात्रों को अपने मोबाइल टॉर्च की रोशनी में परीक्षा देने को कहा गया। इसके बाद छात्रों ने अपने-अपने मोबाइल निकाल लिए और फ्लैश-लाइट ऑन करके उसकी रोशनी में देने लगे।

परीक्षार्थी एक हाथ में मोबाइल थामे हुए थे और उसकी रोशनी में दूसरे हाथ से परीक्षा दे रहे थे। मुंगेर में शिक्षा व्यवस्था के पोल खोलते इस मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। परीक्षा देने आए परीक्षार्थियों का कहना था कि वे काफी दूर से एग्जाम देने आए हैं, मगर कॉलेज में किसी तरह का इंतजाम नहीं है। वहीं, आरडी एंड डीजे कॉलेज के केंद्राधीक्षक संजय कुमार ने सफाई देते हुए कहा कि बारिश के कारण बिजली गुल हो गई थी और जेनरेटर भी खराब हो गया था। टेक्नीशियन को बुलाया लेकिन जेनरेटर स्टार्ट नहीं हो पाया।

यूजर्स ने पूछा- फोन और परीक्षा एक साथ कैसे?: सोशल मीडिया पर इसको लेकर यूजर्स तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक यूजर (@sonu1796sharma) ने कहा, “वो तो ठीक है पर परीक्षा और मोबाइल एक साथ कैसे?” एक यूजर ने इसी तरह नीतीश कुमार सरकार पर तंज किया। यूजर ने कहा, “नीतीश बाबू की जय जय करिए सब अच्छा होगा।” एक यूजर (@Amitkoh57677160) का कुछ और ही कहना था। यूजर ने सवाल उठाते हुए कहा, “रात में परीक्षा कहां होती है, मोबाइल लेकर परीक्षा देने का रिवाज़ किस विश्विद्यालय में है, कृपया उल्लेख करें।”

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X