scorecardresearch

Bihar: इलाज कराने अस्पताल पहुंचा कैदी अपने वार्ड से गायब, खोज हुई तो दूसरे कमरे में एक महिला के साथ संदिग्ध हालत में मिला

Bihar News: हाजीपुर सदर अस्पताल में छापेमारी के दौरान एक कैदी को कमरे में महिला के साथ संदिग्ध हालत में पकड़ा गया। इस मामले में कई लोगों को पकड़कर पूछताछ की जा रही है।

Bihar: इलाज कराने अस्पताल पहुंचा कैदी अपने वार्ड से गायब, खोज हुई तो दूसरे कमरे में एक महिला के साथ संदिग्ध हालत में मिला
तस्वीर का इस्तेमाल प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (Photo Credit – Pixabay)

Bihar News: बिहार के हाजीपुर सदर अस्पताल में भर्ती एक कैदी अस्पताल के वार्ड से लापता हो गया। जिसेक बाद उसकी तलाशी करने पर वह जेल में ही दूसरे कमरे में एक महिला के साथ संदिग्ध हालत में मिला। हाजीपुर के सिविल सर्जन डॉ अमरेंद्र नारायण साई ने जानकारी दी कि इस मामले में कैदी, महिला, अस्पताल के कर्मचारी और 4 सुरक्षा गार्ड को गिरफ्तार किया गया है।

जानकारी के मुताबिक, हाजीपुर सदर अस्पताल में कैदियों के लिए कॉल गर्ल की व्यवस्था की जाती थी। इस बात का खुलासा तब हुआ जब एसडीपीओ ने गुप्त सूचना के आधार पर वहां छापेमारी की। रेड के दौरान पता चला कि हाजीपुर सदर अस्पताल में सजायाफ्ता कैदियों की मौज-मस्ती के लिए कैदी के लिए कॉल गर्ल की व्यवस्था की गई थी।

लूट की मोबाइल के लोकेशन की जांच करते करताहा थाने की पुलिस सदर अस्पताल पहुंची तो वार्ड में महिलाओं के साथ कैदी संदिग्ध हालत में मिले। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंचे सदर एसडीपीओ ने कार्रवाई करते हुए कॉल गर्ल्स, वार्ड ब्वॉय समेत कई अन्य लोगों को पकड़ा है। सभी से पूछताछ की जा रही है।

महिला के साथ संदिग्ध हालत में मिला कैदी: सूचना के आधार पर सदर एसडीपीओ ओमप्रकाश बुधवार (28 सितंबर) देर रात सदर अस्पताल के कैदी वार्ड पहुंचे। इस दौरान कैदी वार्ड की तलाशी लेने पर पुलिसकर्मियों की मिलीभगत से सजायाफ्ता कैदी वार्ड में एक महिला के साथ संदिग्ध हालत में मिला। जानकारी के मुताबिक, दूसरे राज्य से कॉलगर्ल को हाजीपुर बुलाया गया था।

शामिल लोगों पर कानूनी कार्रवाई: सिविल सर्जन डॉ अमरेन्द्र नारायण ने बताया, “एक कैदी अपने वार्ड से गायब था। उसे किसी दूसरे रुम में पाया गया, जहां पहले से एक महिला भी साथ में थी। जिसके बाद आरोपी के साथ चार पुलिसकर्मी और स्वास्थ्य कर्मचारी को पुलिस के हवाले कर दिया गया है। इन सभी लोगों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”

हालांकि यह सुविधा किस सजायाफ्ता बंदी के लिए की गई थी, यह स्पष्ट नहीं हो पाया है। जांच के दौरान हत्या के मामले में सजायाफ्ता कैदी वार्ड की बजाय अस्पताल के नशा मुक्ति केंद्र के एसी कमरे में पार्टी करता पाया गया। वहीं, कैदी वार्ड में महिलाओं के साथ कैदी होने पर वैशाली एसपी मनीष कुमार ने सदर अस्पताल पहुंचकर जांच पड़ताल की।

पढें राज्य (Rajya News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 30-09-2022 at 02:08:28 pm
अपडेट