ताज़ा खबर
 

बिहार: एक्‍सप्रेस ट्रेन में डकैतों ने बोला धावा, रेलकर्मियों को भी पीटा, लूटपाट कर फरार

पीड़ित यात्रियों ने बताया कि डकैतों के पास कुल्हाड़ी और लाठियां थीं, जिनके बलबूते वे आभूषण, नकदी, स्मार्टफोन, बैग समेत अन्य सामान लूटकर नौ दो ग्यारह हो लिए।

बिहार में मंगलवार शाम एक्सप्रेस ट्रेन की दो एसी बोगियों पर डकैतों ने हमला बोला था। (फोटोः ANI)

बिहार में मंगलवार (26 जून) शाम को एक एक्सप्रेस ट्रेन में डकैतों ने धावा बोला। रेलगाड़ी रुकवा कर पहले उन्होंने कर्मचारियों से मारपीट की। बाद में यात्रियों से लूटपाट कर वे मौके से फरार हो गए। वारदात को भलूई रेलवे स्टेशन के आस-पास अंजाम दिया गया था। घटना के दौरान सब कुछ इतना अचानक हुआ कि यात्री भी उस वक्त डकैती के बारे में कुछ समझ नहीं पाए थे।

शाम आठ बजे पटना-हटिया-पाटलिपुत्र एक्सप्रेस (यह ट्रेन झारखंड की राजधानी रांची के हटिया जाती है) कुंदर हॉल्ट के पास थी। अचानक कुछ डकैत ट्रेन को दो वातानुकूलित बोगियों (ए1 और बी1) में घुस गए, जहां उन्होंने जमकर लूटपाट की। शुरू में कुछ लोगों ने घटना का विरोध किया, तो उन्होंने मारपीट की।

डकैतों के हमले में जीतेंद्र सिंह नाम के यात्री के सिर में चोट लग गई। ट्रेन चलने के बाद झाझा स्टेशन पर उनकी मरहम-पट्टी कराई गई। पीड़ित यात्रियों ने बताया कि डकैतों के पास कुल्हाड़ी और लाठियां थीं, जिनके बलबूते वे आभूषण, नकदी, स्मार्टफोन, बैग समेत अन्य सामान लूटकर नौ दो ग्यारह हो लिए।

यात्रियों का कहना है, “हम कुछ समझ पाते, उससे पहले ही बोगी के भीतर पांच से छह अज्ञात लोग घुस आए थे। उन्होंने हमें डराया-धमकाया था, जिसके बाद हमें मजबूरी में अपने कीमती सामान उनके हवाले करने पड़े।” डकेती के दौरान आरोपियों ने बोगी के शीशे भी तोड़ दिए थे। झाझा रेलवे थाने में इस डकैती को लेकर मामला दर्ज कराया गया।

जमुई रेल थाना प्रभारी भगवान सिंह ने जख्मी यात्रियों को इलाज कराने की हिदायत दी, मगर वे उसके लिए राजी न हुए। वे सब झाझा स्टेशन पर इलाज कराने की बात कह रहे थे। वहीं, झाझा स्टेशन पहुंचने पर ट्रेन में सुरक्षाकर्मी न होने को लेकर यात्रियों ने जमकर बवाल काटा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App