ताज़ा खबर
 

बिहार पंचायत चुनाव: तीसरे चरण में 60.25% वोटिंग, औरंगाबाद में तीन केंद्रों पर मतदान रद्द

प्रथम चरण के 45 मतदान केंद्रों पर तथा दूसरे चरण के 26 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान के आदेश दिए गए हैं।

Author पटना | Published on: May 2, 2016 11:54 PM
बिहार पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के दौरान गया के एक मतदान केंद्र पर कतार में खड़े मतदाता। (पीटीआई फोटो)

बिहार में पंचायत निर्वाचन 2016 के तीसरे चरण के सोमवार (2 मई) को संपन्न मतदान के दौरान कुछ स्थानों पर छिटपुट वारदातों के बीच 60.25 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग किया। बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त ए के चौहान ने बताया कि पंचायत निर्वाचन 2016 के तीसरे चरण के सोमवार को संपन्न मतदान के दौरान कुछ स्थानों पर बूथ कब्जा, गोलीबारी और दो समूहों में झड़प को छोडकर शाम पांच बजे तक 60.25 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने-अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

बिहार राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव दुर्गेश नंदन के साथ सोमवार को संवाददाताओं को संबोधित करते हुए चौहान ने बताया कि मतदान शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हो गया और आयोग तक अंतिम सूचना पहुंचने तक मतदान का प्रतिशत के थोड़ा और बढ़ने की संभावना है। उन्होंने बताया कि औरंगाबाद जिला के ओबरा प्रखंड के मतदान केंद्र संख्या 63, 64 एवं 65 पर बूथ कब्जा कर लिए जाने के कारण वहां मतदान को रद्द कर दिया गया है।

चौहान ने बताया कि इन मतदान केंद्रों पर वार्ड सदस्य अभिमन्यु शर्मा के सभी मतदान दल एवं ड्युटी पर तैनात पुलिस अवर निरीक्षक को अपने पक्ष में करके बोगस वोटिंग कराने का वहां तैनात प्रशिक्षु सिपाहियों द्वारा विरोध किया गया तथा मोबाईल फोन से उसकी वीडियो रिकॉर्डिंग कर ली गयी थी। तत्काल सूचना पाकर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक उक्त मतदान केंद्र पहुंचे और घटना की जांच की तथा सत्य पाए जाने पर पुलिस अवर निरीक्षक सहित तीनों मतदान केंद्र के 16 कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

उन्होंने बताया कि गया जिला के नीमचक बथानी के सरेन पंचायत के मतदान केंद्र संख्या 46 के मुखिया प्रत्याशी रंजीत यादव एवं शाहिदा खातून के पति मो0 जुबैद के समर्थकों के बीच वोट डालने को लेकर मारपीट एवं गोलीबारी की घटना घटी।

चौहान ने बताया कि सीतामढी जिला के रून्नीसैदपुर थाना अंतर्गत रूपौली गांव के मतदान केंद्र संख्या 309 एवं 310 पर पूर्व जिला पार्षद के पति एवं उनके समर्थकों के साथ वर्तमान जिला पार्षद के प्रत्याशी के समर्थकों समर्थकों के बीच झड़प हुई।

बिहार पंचायत निर्वाचन 2016 के तीसरे चरण के तहत जिला परिषद सदस्य के 129, 1284 पंचायत समिति सदस्य, 941 ग्राम पंचायत मुखिया, 12863 ग्राम कचहरी सरपंच, 12863 ग्राम पंचायत सदस्य एवं 12863 ग्राम कचहरी पंच के पदों के लिए प्रदेश के 38 जिलों के 62 प्रखंडों में 13307 मतदान केंद्र बनाए गए थे तथा स्वतंत्र, शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष ढंग से मतदान संपन्न कराए जाने के लिए सभी मतदान भवनों पर सशस्त्र बल की प्रतिनियुक्ति किए जाने के साथ 3997 गश्ती दल दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति तथा राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा सभी प्रखंड के लिए अलग-अलग प्रेक्षकों की नियुक्ति की गई थी।

चौहान ने बताया कि सोमवार को मतदान के दौरान विभिन्न मामलों में कुल 420 लोगों को गिरफ्तार, 47 वाहन जब्त किए गए तथा 300 कारतूस जब्त किए गए। उन्होंने बताया कि प्रथम चरण के 45 मतदान केंद्रों पर तथा दूसरे चरण के 26 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान के आदेश दिए गए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories