ताज़ा खबर
 

नीतीश कुमार ने जब कहा- बिहार से भागा भूत और ये खुशी की बात है

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समारोह में बोलते हुए कहा कि, अब बिहार से भूत भाग गया है। उन्होंने कहा कि एक समय था जब अँधेरा होने पर बच्चों को भूत का भय दिखाकर लोग घर के अंदर चलने के लिए कहते थे, लेकिन अब भूत से डरने की जरूरत नहीं है।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फोटो सोर्स : Indian Express)

बिहार में गुरुवार को नीतीश सरकार की ‘हर घर बिजली योजना’ के पूरा होने पर सम्मान समारोह का आयोजन किया गया था। बापू सभागार में आयोजित इस सम्मान समारोह में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बोलते हुए कहा कि, अब बिहार से भूत भाग गया है। उन्होंने कहा कि एक समय था जब अँधेरा होने पर बच्चों को भूत का भय दिखाकर लोग घर के अंदर चलने के लिए कहते थे, लेकिन अब भूत से डरने की जरूरत नहीं है। गौरतलब है कि बिहार में चुनाव के दौरान नीतीश कुमार ने हर घर में 31 दिसंबर 2018 तक बिजली पहुँचाने का ऐलान किया था। ये मौका बिहार की विद्युत कंपनियों के छठें स्थापना दिवस का भी था।

बापू सभागार में आयोजित सम्मान समारोह के दौरान बोलते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि, हमने निश्चय किया था कि 2018 के आखिरी महीने की 31 तारीख तक हम बिहार के हर घर में बिजली पहुंचा देंगे लेकिन तय समय से 65 दिन पहले ही हम लोगों ने ये लक्ष्य प्राप्त कर लिया। समय से पहले इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए सीएम नीतीश कुमार ने ऊर्जा विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि बिजली आने से समाजिक बदलाव भी हुआ है।

नीतीश कुमार ने ‘हर घर बिजली योजना’ के पूरा होते ही प्रदेश में जर्जर होते बिजली के तारों को बदलने और कृषि फीडर लगाने का नया टास्क ऊर्जा विभाग को सौंप दिया। उन्होंने कहा कि 31 दिसंबर 2019 तक सभी जर्जर तारों और कृषि फीडर को लगाने का कार्य भी पूरा कर लिया जायेगा। बिहार सरकार के कामों को बताते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके पूर्व 2005 में प्रदेश में 700 मेगावाट बिजली आपूर्ति थी लेकिन अब यह बढ़कर 5000 मेगावाट से भी ज्यादा हो गयी है।

उन्होंने ने कहा कि जब वो हेलीकॉप्टर से कार्यक्रम स्थल तक आ रहे थे तो नीचे गाँवों में कहीं अँधेरा नहीं था, हर तरफ रोशनी थी। मुख्यमंत्री ने बिजली के साथ ही सौरऊर्जा के विस्तार पर भी बल दिया और कहा कि कजरा और पीरपैंती दोनों जगहों पर 250-250 मेगावाट का सोलर प्लांट लग रहा है। विद्युतकर्मियों के लिए घोषणा करते हुए उन्होंने कहा कि विद्युत भवन का विस्तार किया जायेगा और नए भवन का निर्माण होगा जिसे बनाने में 85 करोड़ की लागत आएगी। कर्मचारियों के लिए बोर्ड कालोनी में भवन का निर्माण होगा जिसमे ऑडिटोरियम की सुविधा भी होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App